October 4, 2022

जहानाबाद: चुनाव में जीत नहीं पाया तो गुस्से में आकर की दूसरे उम्मीदवार की हत्या, शव को नाले में फेंका

पटना

चुनाव में जब कई प्रत्याशी खड़े होते हैं तो जीतने वाले को छोड़कर हारने वाले सभी उम्मीदवार अपनी हार का गणित लगाते हैं। कई बार किसी दूसरे उम्मीदवार की वजह से उन्हें लगता है कि वे चुनाव हार गए। अक्सर ये सब राजनीतिक दुश्मनी के तौर पर सिर्फ देखा जाता है लेकिन कई बार यह दुश्मनी काफी आगे भी बढ़ जाती है। ऐसा ही एक मामला बिहार के जहानाबाद से भी सामने आया, जहां पंचायत चुनाव में हार मिलने से नाराज एक प्रत्याशी ने दूसरे उम्मीदवार को मौत के घाट उतार डाला। हालांकि, अभी पुलिस मामले की जांच कर रही है लेकिन मृतक परिजनों का साफ कहना है कि इसी वजह से उनके बेटे की हत्या की गई है।

मिली जानकारी के अनुसार, मामला जहानाबाद के मखदुमपुर का है। जहां अल्लाहगंज में सुभाष चौधरी नामक युवक सुबह करीब 5 बजे खेत पटाकर घर लौट रहा था। रास्ते में गांव के कुछ लोग पकड़ कर मारपीट करने लगे जिसके बाद उसका गला दबाकर नाले में फेंक दिया। मारपीट करने के दौरान जब युवक ने शोर भी मचाया। जिसे सुनकर ग्रामीण लोग दौड़े भी लेकिन तब तक अपराधी लोग इसे नाला में फेंक कर भाग गए। परिवार के लोग नाले से निकालकर रेफरल अस्पताल मखदुमपुर लाए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई थी।

परिजनों ने हत्या में शामिल होने का आरोप गांव के ही विनोद चौधरी उर्फ नंदू और उसके दामाद नीतीश कुमार पर लगाया गया है। नीतीश घोसी थाना के मेहंदीपुर का रहने वाला बताया जा रहा है। परिवार के लोगों का कहना है कि पिछले पंचायत चुनाव में युवक ने वार्ड सदस्य का चुनाव लड़ा था। चुनाव में विनोद चौधरी जो पूर्व वार्ड सदस्य था वह हार गया। हारने की वजह वह सुभाष को बता रहा था। चुनाव के समय से ही विनोद चौधरी सुभाष चौधरी एवं उसके परिवार के लोगों से बैर भाव रख रहा था।

पुलिस ने इस संबंध में बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा गया है। अभी तक जो कारण बताया जा रहा है वह चुनावी रंजिश है। परिवार के द्वारा लिखित आवेदन प्राप्त नहीं हुआ है। अपराधियों को पकड़ने का प्रयास किया जा रहा है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.