January 28, 2023

टीएमबीयू PAT रिजल्ट : छात्रों के हंगामे के बाद पीएचडी एडमिशन टेस्ट का साक्षात्कार रद्द

भागलपुर

TMBU PAT Result : तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय (टीएमबीयू) के प्री-पीएचडी रिजल्ट में धांधली का आरोप लगाते हुए छात्र संगठनों ने मंगलवार को विरोध-प्रदर्शन किया। छात्रों ने परीक्षा नियंत्रक कार्यालय पहुंचकर बवाल मचाया। छात्रों ने इसकी उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की। परीक्षा नियंत्रक के आश्वासन के बाद छात्र वहां से निकले और फिर रजिस्ट्रार कार्यालय और प्रॉक्टर कार्यालय में भी अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा। वहीं, छात्रों के हंगामे के बाद साक्षात्कार और अन्य सारी प्रक्रिया अगले आदेश तक रद्द कर दी गई है। परीक्षा नियंत्रक डॉ. अरुण कुमार सिंह ने कहा कि कुलपति के आदेश पर पैट के साक्षात्कार की सारी प्रक्रिया अभी रद्द कर दी गई है। आगे जो निर्देश मिलेगा, उसी के अनुरूप काम किया जाएगा।

मंगलवार को आइसा के विश्वविद्यालय संयोजक प्रवीण कुशवाहा और छात्र युवा संघर्ष समिति के प्रदेश अध्यक्ष आसिफ अली के नेतृत्व में छात्रों का प्रतिनिधिमंडल विश्वविद्यालय पहुंचा और प्रशासनिक गेट के सामने विश्वविद्यालय के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। छात्रों ने फिर से पैट की कॉपी का मूल्यांकन कराने की मांग की। छात्रों ने कहा कि विश्वविद्यालय में न कुलपति और न ही प्रतिकुलपति रहते हैं। नतीजा छात्रों की समस्या सुनने वाला कोई नहीं है। इसके अलावा अन्य अधिकारी को कहते हैं तो वे मुजफ्फरपुर फाइल भेजने का आश्वासन देते हैं।

पुनर्मूल्यांकन पर निर्णय जल्द
छात्र संगठन ने इसको लेकर परीक्षा नियंत्रक से वार्ता की। इसमें परीक्षा नियंत्रक के माध्यम से कुलपति से बात हुई तो तत्काल प्री पीएचडी के होने वाले वायवा की तिथि को स्थगित कर दिया गया है। वहीं पुनर्मूल्यांकन के मामले में भी कुलपति जल्द ही कोई निर्णय सुनाएंगे। मौके पर मौजूद आइसा के विश्वविद्यालय संयोजक प्रवीण कुशवाहा ने कहा कि पैट के छात्रों की कल तक मांग अगर पूरी नहीं होती है तो छात्र संगठन आइसा छात्रहित में आगे उग्र आंदोलन करेगी। इसके लिए विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलपति जिम्मेदार होंगे।

मुजफ्फरपुर से नहीं चलेगा विश्वविद्यालय का काम
छात्रों ने कहा कि कुलपति मुजफ्फरपुर से टीएमबीयू का काम कर रहे हैं जो संभव नहीं है। राजभवन से मांग की गयी है कि जबतक स्थायी कुलपति नहीं आते हैं तब तक स्थानीय अधिकारी को कुलपति का प्रभार दिया जाए। ताकि विश्वविद्यालय का काम सुचारू रूप से चल सके। दूरदराज वाले कुलपति विश्वविद्यालय को नहीं चाहिए। मौके पर छात्र नेता हेमंत कुशवाहा, प्रिरंजन कुमार झा, प्रशांत कुमार, विकास कुमार, दीपक कुमार, अंकित कुमार, दीपकर लाल, मो. सादिक हुसैन, कुमार आदि मौजूद थे।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.