September 29, 2022

पेट्रोल पर मोदी सरकार ने 5 रुपये टैक्स घटाकर जो राहत दी थी, उसका असर अब खत्म, 9 दिन में ही 5.60 रुपये महंगा हुआ तेल

नई दिल्ली

पेट्रोल-डीजल के दाम पिछले 9 दिनों में ही 5 रुपये 60 पैसे तक बढ़ गए हैं। पांच महीने पहले ही केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 5 रुपये और डीजल पर 10 रुपये प्रति लीटर की राहत जो उपभोक्ताओं को दी थी, उसका असर अब खत्म हो गया है।

श्रीगंगानगर और मुंबई में तो डीजल भी 100 के पार

मुंबई, चेन्नई और कोलकाता में पेट्रोल के दाम पहले ही 100 रुपये प्रति लीटर को पार कर गए हैं। ज्यादातर राज्यों की राजधानी में भी पेट्रोल ‘शतक’ के लगा चुका है। श्रीगंगानगर और मुंबई में तो डीजल भी 100 के पार चला गया है। पेट्रोल-डीजल के दाम अभी कम होने के आसार कम ही नजर आ रहे हैं। क्योंकि क्रिसिल रिसर्च की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ऑयल मार्केटिंग कंपनियों के नुकसान की भरपाई के लिए पेट्रोल-डीजल की कीमत में 15 से 20 रुपए का इजाफा करना होगा। इस लिहाज से देखें तो पेट्रोल-डीजल की कीमत में अभी और 18 रुपये की बढ़ोतरी हो सकती है।

वहीं, पिछले दिनों मूडीज रेटिंग एजेंसी ने रिपोर्ट जारी कर कहा था कि भारत के टॉप फ्यूल रिटेलर्स आईओसी, बीपीसीएल और एचपीसीएल को नवंबर से मार्च के बीच करीब 19 हजार करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ है। ऐसे में कंपनियां घाटे की भरपाई के लिए पेट्रोल-डीजल के दाम एक बार में न बढ़ाकर धीरे-धीरे बढ़ाएंगी।

बता दें केंद्र सरकार के टैक्स घटाने के बाद कई राज्यों ने भी वैट को कम किया। लगभग एक महीने बाद दिल्ली सरकार ने भी 2 दिसंबर को पेट्रोल पर वैट घटाकर 8.52 रुपये प्रति लीटर कर दिया, जिससे पंप पर पेट्रोल की कीमत 100 रुपये से नीचे आ गई। 2 नवंबर 2021 को दिल्ली में पेट्रोल 110.04 रुपये प्रति लीटर और डीजल  98.42 रुपये पर पहुंचा था। ये कीमतें सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गईं थीं। दो दिसंबर 2021  से  21 मार्च 2022 तक दिल्ली में पेट्रोल 95.41 रुपये प्रति लीटर और डीजल 86.67 रुपये प्रति लीटर था।

पेट्रोल-डीजल के दाम 9 दिन में 8वीं बार बढ़े

पेट्रोल-डीजल के दाम 9 दिन में 8वीं बार बढ़े। बुधवार को पेट्रोल-डीजल पर 80-80 पैसे बढ़े हैं। बता दें 4 नवंबर 2021 को केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 5 रुपये टैक्स घटाकर जो राहत दी थी, उसका असर अब खत्म हो चुका है। अब 9 दिन में पेट्रोल 5.60 रुपये महंगा हो गया है। अक्टूबर 2021 में 13 राज्यों की 29 विधानसभा और 3 लोकसभा सीटों पर उपचुनाव में बीजेपी को उम्मीद के मुताबिक नतीजे नहीं मिले थे। इसके बाद पेट्रोल पर 5 रुपए टैक्स घटा था।

कच्चे तेल के दाम में 72% तक का उछाल

मार्च में यूपी समेत 5 राज्यों में चुनाव संपन्न हुए। नवंबर से मार्च तक कच्चे तेल के दाम में 72% तक का उछाल आया, लेकिन पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं बढ़ाए गए। 10 मार्च को आए चुनावी नतीजे के 12 दिन बाद दाम बढ़ने शुरू हुए, जबकि कच्चे तेल के दाम घट रहे हैं। मंगलवार को कच्चा तेल 6.79% गिरावट के साथ 104.84 डॉलर/बैरल रहा। यह उच्चतम स्तर से 31% कम है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.