September 25, 2022

बीमार समझकर जिस बंदी को अस्पताल ले गए सिपाही, देर रात हथकड़ी सरका कर फरार

सुपौल

सुपौल में बुधवार की शाम पेट दर्द और उल्टी की शिकायत होने पर इलाज के लिए बंदी सिंटू यादव को सदर अस्पताल के बंदी वार्ड में भर्ती कराया गया। पुलिस वाले उसे गंभीर रूप से इलाज के लिए अस्पताल लाए। लेकिन वह गुरुवार की देर रात पुलिस को चकमा देकर हथकड़ी सरकाकर वहां से भाग निकला। उस वक्त सिपाही बंदी पर नजर रखने के बजाय खर्राटे ले रहे थे, जिसका फायदा उठाकर वह भागने में कामयाब रहा।

बंदी सिंटू यादव मारपीट के मामले का आरोपी है और जेल में बंद था। 11 मई को पेट दर्द औऱ उल्टी  की शिकायत होने के बाद मंडल कारा से सदर अस्पताल लाया गया। बंदी को अस्पताल में भर्ती कराने के बाद पुलिसकर्मी रात को उसपर नजर रखने के बजाय खर्राटे लेने लगे। उन्हें लगा कि सिंटू की हालत गंभीर है और वह चलने-फिरने लायक नहीं है।

इधर, पुलिसवालों को सोता देख रात साढ़े 12 बजे के करीब वह हथकड़ी सरकारकर खिड़की के सहारे दो मंजिला भवन से नीचे उतरकर अस्पताल से भाग निकला। इधर बंदी के भाग जाने का पता लगते ही पुलिस वालों की नींद उड़ गई। सभी ने उसे आसपास तलाशा, लेकिन वो नहीं मिला। इसके बाद इस बात की जानकारी सदर थाने तक पहुंची। सुबह सुबह सदर थानाध्यक्ष मनोज महतो सहित अस्पताल पहुंचकर बिल्डिंग के पिछले हिस्से की खिड़की का मुआयना किया जिससे सिंटू भागा था।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.