October 4, 2022

सावधान! सर्वे करने आए कर्मी हो सकते हैं क्रिमिनल, मुजफ्फरपुर में इसी बहाने घर में घुसे अपराधियों दिनदहाड़े पांच लाख के गहने लूटे

मुजफ्फरपुर

अगर आपके घर पर कोई सर्वे कर्मी आता है जिसे आप नहीं पहचानते हैं तो पहले उनसे पूरा जानकारी ले लें तब उन्हें घर के अंदर आने दें। बिहार के मुजफ्फरपुर में सर्वे करने के नाम पर आए दो अपराधकर्मियों ने लूटपाट की बड़ी घटना को अंजाम दिया। वारदात में एक महिला की जान बाल-बाल बच गई। घटना अहियापुर थाना के कोल्हुआ स्थित अशोक बिहार कॉलोनी की है। गुरुवार को दिनदहाड़े तीन अपराधियों ने मोतीपुर में पोस्टेड राज्य खाद्य निगम के सहायक गोदाम प्रबंधक रघुवंश प्रसाद के घर में घुसकर लूटपाट की। बच्चों को एक कमरे में बंद कर दिया और बहू माधुरी कुमारी पर पिस्टल तानकर गोदरेज खोलवाया। पांच लाख से अधिक के गहने व 15 हजार रुपये कैश लूट लिए। अपराधियों ने पिस्टल की बट से मारकर माधुरी का सर फोड़ दिया जिसमें वे घंटों तक बेहोश रहीं। अपराधी सर्वे के बहाने  घर में घुसे थे। इनकी उम्र करीब 20 से 22 वर्ष थी और दुबले-पतले थे। इनके स्मैकिया गिरोह से जुड़े होने का शक पुलिस को है।

महिला को पिस्टल की बट से मार कर किया बेहोश

फरार होने से पहले अपराधियों ने माधुरी की कनपट्टी पर पिस्टल की बट से मारा जिससे वह बेहोश हो गई। कमरे में बंद बच्चों ने पिता को कॉल किया। इसके बाद सहायक गोदाम प्रबंधक और उनके पुत्र रेवा के प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक रवींद्र कुमार घर पहुंचे। कमरा खोलकर बच्चों को बाहर निकाला। फिर बेहोश माधुरी को जूरनछपरा स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने अशोक बिहार कॉलोनी में लगे सीसीटीवी का फुटेज लिया है। इसमें तीनों अपराधी दिखे।

सहायक गोदाम प्रबंधक रघुवंश प्रसाद ने बताया कि पोती कशिश कुमारी एक प्राइवेट स्कूल में नौंवी क्लास में पढ़ती है। वह दोपहर एक बजे स्कूल से घर लौटी है। उसके आने के 10 मिनट बाद पहले दो युवक आकर बरामदे में लगे सोफे पर बैठ गए। दोनों को देखकर बहू ने पूछताछ की तो उसने खुद को सर्वे करने वाला बताकर घर में मौजूद बच्चों और अन्य लोगों के बारे में जानकारी ली। इस दौरान तीसरा युवक हाथ में पिस्टल लेकर बरामदे में आया। उसने माधुरी की कनपट्टी में पिस्टल सटा दी। पोती कशिश, पोता कृष्णा कुमार और छोटी पोती मांडवी कमरे में टीवी देख रहे थे। तीनों के कमरे को बाहर से बंद कर दिया। फिर बहू से गोदरेज की चाबी ली। अलमीरा से गहने निकाल लिए। फिर सहायक गोदाम प्रबंधक के कमरे की अलमीरा से कैश निकाला। इसके बाद बड़ी बहू का गोदरेज खोलने के लिए बोला। उसकी चाबी नहीं थी, तब अपराधियों ने अपनी चाबी का गुच्छा निकाला और लॉक तोड़ डाला। बड़ी बहू के गोदरेज से भी गहने निकाल लिए। इसके बाद माधुरी को बेहोश कर तीनों फरार हो गए। उन्हें तीन घंटे तक होश नहीं आया। निजी अस्पताल में इलाज के बाद चार बजे होश आया।

कृष्णा ने कॉल कर दी जानकारी

टीवी देख रहे कृष्णा के पास उसका मोबाइल था। उसने मोबाइल से पहले रेवा प्राथमिक विद्यालय में पोस्टेड पिता को कॉल कर जानकारी दी। इसके बाद रवींद्र ने पिता को कॉल कर बताया। दोनों ने अहियापुर पुलिस को भी कॉल किया। उस समय अपराधी घर में ही लूटपाट कर रहे थे, लेकिन पुलिस के आने में समय लगा, तबतक तीनों लूटपाट कर फरार हो चुके थे।

मोतीपुर से पहुंचे पर अहियापुर से नहीं आ सकी पुलिस 

रघुवंश प्रसाद को पता चलते ही वह मोतीपुर से गाड़ी से कुछ लोगों के साथ घर के लिए निकले। वे आधे घंटे में मोतीपुर से कोल्हुआ स्थित घर पहुंच गए लेकिन पुलिस अहियापुर से उनकेआवास पर नहीं आयी थी। यदि पुलिस तुरंत आती तो मोहल्ले में ही अपराधी घेर लिए जाते।

एसएसपी का बयान

इस वारदात को लेकर  एसएसपी जयंतकांत ने कहा है कि लूटपाट की घटना हुई है। सीसीटीवी फुटेज से अपराधियों को चिह्नित करने की कोशिश की जा रही है। शीघ्र ही अपराधियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.