January 28, 2023

बदमाशों ने शिक्षक का किया अपहरण, पिता को फोन करके मांगी 6 लाख की फिरौती, क्लास के दौरान आई कॉल से परेशान थे अंकित

पटना

केमेस्ट्री (रसायनशास्त्र) के शिक्षक अंकित कुमार (24) का राजधानी से अपहरण कर लिया गया। घटना शास्त्रीनगर थाना इलाके के आकाशवाणी रोड में बीते शुक्रवार की रात आठ बजे हुई। राजीवनगर थाना इलाके में स्थित एक कोचिंग संस्थान में बेगूसराय जिले के भेलवारा के रहने वाले अमित केमेस्ट्री की क्लास लेते हैं। पटना में वह शास्त्रीनगर इलाके में रहते थे। रात के वक्त क्लास खत्म होने के बाद वे कोचिंग संस्थान से कुछ ही दूरी पर स्थित संचालक अमित कुमार के घर के पास लगी अपनी स्कूटी पर सवार होकर निकले।

इसके बाद अमित का मोबाइल बंद आने लगा। सुबह के वक्त उनके पिता व पेशे से किसान अरुण कुमार के मोबाइल पर कॉल आयी। कॉल करने वाले ने कहा कि छह लाख रुपये देने पर बेटे को छोड़ा जाएगा। इसके बाद अंकित के पिता पटना पहुंचे और राजीवनगर थाने की पुलिस को खबर दी। घटनास्थल शास्त्रीनगर थाना इलाके में होने के कारण पुलिस ने वहीं पर केस दर्ज किया। देर रात तक पुलिस टीम अंकित को तलाशने में जुटी हुई थी। एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने बताया कि पुलिस इस मामले की छानबीन करने में जुट गयी।

6 बजकर 38 मिनट पर आया पहला कॉल 

अंकित के पिता ने बताया कि उन्हें सुबह के छह बजकर 38 मिनट पर पहली कॉल आयी। छह लाख की फिरौती मांगी गयी है। इसके बाद भी अपहरणकर्ताओं ने कई बार कॉल कर फिरौती की मांग की। पुलिस उस नंबर के बारे में छानबीन कर रही है, जिससे अंकित के पिता को कॉल की गई थी।

क्लास के दौरान आई कॉल से परेशान थे अंकित 

अंकित जिस वक्त क्लास ले रहे थे, उस समय भी उन्हें एक नंबर से कॉल आई थी। उस कॉल के आने के बाद वह काफी परेशान थे। इसके बाद अंकित क्लास खत्म होने के बाद निकल गये।

यूपीएससी की तैयार कर रहे थे अंकित

कोचिंग में पढ़ाने के साथ ही अंकित यूपीएससी की तैयारी कर रहे थे। उसके दोस्तों ने बताया कि पिछली बार दी गयी यूपीएससी की परीक्षा में कुछ ही नंबरों से वह असफल हो गये थे।

सीसीटीवी कैमरों को खंगाल रही पुलिस 

पुलिस टीम सीसीटीवी कैमरों को खंगाल रही है। जिस जगह से अंकित का अपहरण हुआ, वहां लगे कैमरों को खंगाला जा रहा है। पुलिस यह भी पता ल्रगा रही है कि आखिरी बार अंकित की बात किन लोगों से हुई थी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.