October 7, 2022

माली की नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गैंग का सरगना फरार, विकास भवन के अफसर से मिलने आते थे जालसाज: वेटिंग रूम में लेते थे इंटरव्यू

पटना

बिहार में माली के पद पर नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगी करने वाले गैंग का कनेक्शन एक अफसर से भी है। इस गैंग के सदस्य अक्सर विकास भवन में आया जाया करते थे। इसी कारण कई युवकों से ठगों ने उद्योग विभाग के वेटिंग रूम में ही साक्षात्कार ले लिया। हालांकि पुलिस की जांच के बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि गिरोह के सदस्य किन-किन लोगों से परिचित हैं। वहीं दूसरी ओर सचिवालय थाने की पुलिस ने इस मामले में गिरफ्तार कौशलेंद्र कुमार को गुरुवार की सुबह जेल भेज दिया। कौशलेंद्र मूल रूप से जहानाबाद जिले का रहने वाला है। पीड़ित युवक ने उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। इस मामले में सरगना अमित सहित गैंग के अन्य सदस्य अब भी फरार हैं।

मोबाइल में मिले 150 अभ्यर्थियों के कागजात 

जिस वक्त पीड़ित युवकों ने कौशलेंद्र को पकड़ा था, उस समय उसके पास से एक मोबाइल भी बरामद हुआ। युवकों ने उस मोबाइल को पुलिस के हवाले कर दिया। सूत्रों की मानें तो लड़कों ने जब मोबाइल खोल कर देखा तो उसके अंदर डेढ़ सौ से अधिक अभ्यर्थियों के कागजात और अधिकारियों के नंबर मिले। इसकी सूचना युवकों ने सचिवालय पुलिस को दी है। विकास भवन में तैनात कुछ सुरक्षाकर्मियों से भी इस गिरोह के सदस्यों के संपर्क हैं। इस कारण इन्हें आने-जाने से कोई नहीं रोकता था।

सरगना का मोबाइल बंद 

वहीं दूसरी ओर कौशलेंद्र की गिरफ्तारी के बाद सरगना अमित का मोबाइल बंद आ रहा है। अमित कहां का रहने वाला है, इसकी सटीक जानकारी अब तक पुलिस को नहीं मिली है। अमित ही युवकों को नौकरी का झांसा देकर विकास भवन में बुलाता था। फिर कौशलेंद्र सभी को उद्योग भवन के वेटिंग रूम में ले जाकर झांसा देता था।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.