January 28, 2023

पोस्ट ऑफिस में है अकाउंट? अब आपको घर बैठे मोबाइल से मिलेगा सभी सुविधाओं का लाभ

पटना

केंद्रीय बजट में डाकघरों के माध्यम से डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने की घोषणा की गई है। इसके तहत सभी डाकघरों को कोर बैंकिंग सिस्टम से जोड़ा जाना है। हालांकि, कोर बैंकिंग सिस्टम से सभी डाकघरों को जोड़ने वाला बिहार पहला राज्य है। बिहार के सभी डाकघर दिसंबर में ही कोर बैंकिंग सिस्टम से जुड़ चुके हैं लेकिन डाकघरों के खाताधारकों को इंटरनेट बैंकिंग सेवा का लाभ मिलने में समय लगेगा।

अभी डाकघरों के खाताधारकों को इंट्रानेट बैंकिंग की सुविधा उपलब्ध है। इससे खाताधारक सिर्फ डाकघर की बचत योजनाओं में इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा का लाभ उठा पाते हैं। आने वाले समय में इंट्रानेट बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा में तब्दील होंगे और डाकघर के खाताधारकों को बैंकिंग की मूलभूत सुविधा का लाभ मिलने लगेगा। इसके साथ राज्य के 9 हजार डाकघरों के डेढ़ करोड़ खाताधारक मोबाइल से ही सारी तरह की सुविधाओं का लाभ उठा सकेंगे।

बिजली बिल, मोबाइल रिचार्ज, ई-मार्केटिंग से लेकर स्कूल की फीस और हवाई जहाज का टिकट भी कटवा सकेंगे। अपने प्रियजनों को खाते से पैसा ट्रांसफर करने के लिए अधिक मशक्कत नहीं करनी होगी। खाता चाहे बैंक में हो या डाकघर में आसानी से मोबाइल और एटीएम से ही पैसा ट्रांसफर कर सकेंगे। बता दें कि कोरोना काल में डाकिया घर-घर पहुंचकर लोगों की सहायता की है। इस कारण लोगों का विश्वास डाकघरों पर बढ़ा है।

राज्य में मात्र 45 एटीएम है

राज्य में डाकघरों के एटीएम की भारी कमी है। राज्य में मात्र 45 डाकघरों के पास एटीएम की सुविधा है। जबकि डाकघर के खाताधारकों की संख्या डेढ़ करोड़ हैं। इसमें मात्र 5 लाख खाताधारकों को एटीएम कार्ड मिल सका है। आने वाले समय में इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से खाताधारकों को एटीएम कार्ड देने की संख्या बढ़ानी होगी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.