November 30, 2022

जेपी गंगा पथ पर रफ्तार का कहर, आपदा के अफसर के इकलौते बेटे की हादसे में मौत; घर में मची चीख-पुकार

पटना

जेपी-गंगा पथ पर रफ्तार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। आपदा प्रबंधन विभाग के विशेष कार्य पदाधिकारी संदीप कुमार के 16 वर्षीय इकलौते बेटे उत्कर्ष की सड़क हादसे में मौत हो गयी। शुक्रवार देर शाम हादसा दीघा के समीप जेपी-गंगा पथ पर हुआ। उत्कर्ष परिवार का इकलौता बेटा था। वह नेहरूनगर इलाके में अपने परिवार के साथ रहता था। उत्कर्ष की मौत के बाद घर में मातम पसरा है।

हादसे के बाद यह बात सामने आ रही है कि उत्कर्ष बाइक से गंगा-पथ घूमने गया था। तभी बाइक दुर्घटना का शिकार हो गयी। राहगीरों की सूचना पर घायल किशोर को पाटलिपुत्र स्थित एक निजी अस्पताल में ले जाया गया। बाद में उसे नेहरू मार्ग स्थित एक अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

यातायात थानाध्यक्ष अशोक कुमार ने बताया कि दीघा इलाके में यह हादसा हुआ है। हादसा कैसे हुआ, इसे लेकर सस्पेंस बरकरार है। यातायात थानेदार अशोक कुमार के मुताबिक, प्रथमदृष्टया यह बात सामने आ रही है कि उत्कर्ष बाइक खड़ी कर गंगा पथ के किनारे टहल रहा था। तभी तेज रफ्तार बुलेट उसे टक्कर मारते हुए डिवाइडर से टकरा गयी। हालांकि बुलेट सवार का पता नहीं चल सका है।

पुलिस ने जब उसके नंबर के आधार पर छानबीन की तो पता चला कि बुलेट पटना जिले के खीरीमोड़ के रहने वाले व्यक्ति का है। उसके मोबाइल पर पुलिस ने कॉल किया तो वह बंद मिला। बुलेट को पुलिस ने जब्त कर लिया है। यातायात थानेदार के मुताबिक छानबीन के बाद ही यह स्पष्ट होगा कि उत्कर्ष की मौंत बुलेट की चपेट में आने से हुई या किसी दूरी गाड़ी ने उसे टक्कर मार दी।

उत्कर्ष की मौत के बाद उसके घर में चीख-पुकार मच गयी। मां-बाप का रो-रो कर बुरा हाल था। हादसे की खबर मिलते ही जानने वाले नेहरूनगर स्थित अधिकारी संदीप कुमार के घर पहुंचे और उन्हें संभाला। इधर, बिहार प्रशासनिक सेवा संघ के अध्यक्ष शशांक शेखर सिन्हा व महासचिव सुनील तिवारी ने शोक प्रकट किया है। कहा, भगवान दुख की इस घड़ी में परिवार को संबल प्रदान करें।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.