September 29, 2022

मालदा रेल मंडल के स्टेशनों पर निजी एजेंट बेचेंगे टिकट, कल टेंडर होंगे जारी

भागलपुर

रेलवे स्टेशनों के टिकट काउंटर धीरे-धीरे प्राइवेट एजेंट के हवाले किए जा रहे हैं। मालदा रेल मंडल ने हाल में भागलपुर रेलखंड के सात स्टेशनों पर एसटीबीए (स्टेशन टिकट बुकिंग एजेंट) की बहाली के लिए टेंडर निकाला है। बुधवार को टेंडर डालने की अंतिम तिथि थी। 3 जून को इसके लिए टेंडर खोला जाएगा।

जिन स्टेशनों पर स्टेशन टिकट बुकिंग एजेंट बहाल करने के लिए टेंडर किया गया है उसमें नाथनगर, विक्रमशिला, मंदारहिल, बांका, बाकुडी, गनगनिया और मसूदन स्टेशन शामिल है। रेलवे यूनियन से जुड़े कर्मियों का कहना कि कॉस्ट कटिंग के आड़ में सरकार रेलकर्मियों की संख्या कम करना चाह रही है। इसलिए ऐसे निर्णय लिए जा रहे हैं।

अनारक्षित टिकट की बिक्री
टेंडर की शर्तों के अनुसार स्टेशन टिकट बुकिंग एजेंट स्टेशन के टिकट काउंटर में ही अनारक्षित टिकट की बिक्री करेंगे। टेंडर बताया गया है कि ये सभी एनएसजी-6 कैटोगरी के स्टेशन हैं। यह ठेका तीन साल के लिए दी जाएगी। जिन स्टेशनों पर स्टेशन बुकिंग एजेंट बहाल करने के लिए टेंडर निकाला गया है उसमें भागलपुर-दुमका रेलखंड के स्टेशन, भागलपुर-बांका रेलखंड के स्टेशन, भागलपुर साहिबगंज और भागलपुर-किउल रेलखंड के स्टेशन शामिल हैं।

रेलकर्मियों की संख्या घटाने की कवायद
रेलवे यूनियन से जुड़े कर्मचारियों का कहना है कि रेल प्रशासन कॉस्ट कटिंग के आड़ में रेलकर्मियों की संख्या घटाने की कवायद कर रहा है। इस्टर्न रेलवे मेंस यूनियन के शाखा सचिव आरके सिंह कहते हैं कि उनका संगठन अधिकारियों के साथ होने वाली हर बैठक में आउटसोर्सिंग का विरोध करता रहा है। उन्होंने बताया कि यह कर्मचारियों की संख्या कम करने की साजिश है। इससे यात्री सुविधा में फर्क पड़ेगा।

मालदा के सीनियर डीसीएम पवन कुमार के अनुसार बांका मंदारहिल सहित कुछ स्टेशनों पर एसटीबीए के लिए टेंडर निकाला गया है। एसटीबीए प्राय: उन स्टेशनों पर बहाल किए जाते हैं जहां ज्यादा टिकट की बिक्री नहीं होती है। इसमें एक तरह से फिक्सड रेवेन्यू रेलवे को मिलता है। एजेंट स्टेशन मास्टर के अधीन ही काम करते हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.