September 25, 2022

उच्च शिक्षा की बदहालीः बिहार में विश्वविद्यालयों का सत्र बेपटरी, राजभवन के बार-बार निर्देश का असर नहीं

पटना

बिहार के विश्वविद्यालयों का परीक्षा कैलेंडर दो साल से पटरी से उतरा हुआ है। यह स्थिति अमूमन सभी विश्वविद्यालयों की है। विश्वविद्यालयों का सत्र छह माह से लेकर दो साल तक विलंब चल रहा है। शिक्षा विभाग और राजभवन के बार-बार निर्देश के बाद भी स्थिति में सुधार नहीं हो सका है। यहां तक कि सबसे प्रतिष्ठित माना जाने वाले पटना विवि भी इससे अछूता नहीं है। सत्र के विलंब से चलने के कारण विद्यार्थियों को काफी पेरशानी हो रही है।

मगध विवि की स्थिति सबसे खराब

सबसे खराब स्थिति मगध विश्वविद्यालय की है। बोधगया स्थित मगध विश्वविद्यालय का सत्र विलंब होने से लाखों छात्रों का परीक्षा परिणाम अधर में है। करीब साढ़े चार लाख छात्र परीक्षा देने के बाद रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं। बड़ी संख्या स्नातक सत्र 2019-22 के पार्ट वन के छात्रों की है। इनकी परीक्षा वर्ष 2020 में ली गई। 2019 के बाद स्नातक, स्नातकोत्तर, वोकेशनल व प्रोफेशनल कोर्स की परीक्षा लंबित है।

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय मुजफ्फरपुर

मुजफ्फरपुर स्थित बीआरए बिहार विवि में सत्र एक वर्ष देरी से चल रहा है। अभी सत्र 2018-21 की परीक्षा का रिजल्ट आया है। सत्र 2019- 2022 के पार्ट-2 और पार्ट-3 की परीक्षा बाकी है। सत्र 2020- 23 में अभी पार्ट-1 की परीक्षा हुई है। सत्र 2021-24 के किसी भी सत्र की परीक्षा नहीं हुई है। वहीं, पीजी का सत्र भी एक साल देरी से चल रहा है। अभी सत्र 2019-21 के फर्स्ट सेमेस्टर का रिजल्ट आया है। बाकी परीक्षाएं बाकी हैं। सत्र 2020-22 के फर्स्ट सेमेस्टर की परीक्षा हुई है।

कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विवि, कर्मियों की कमी का बहाना

कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विवि का यूजी और पीजी का सत्र एक साल विलंब से चल  रहा है। परीक्षा नियंत्रक डॉ. दिनेश्वर यादव ने बताया कि कर्मियों की कमी के कारण संस्कृत विवि का सत्र करीब एक वर्ष विलंब से चल रहा है।

पूर्णिया विश्वविद्यालय 

सामान्य और वोकेशनल कोर्स का सत्र करीब 6 माह विलंब चल रहा है। सामान्य कोर्स के सत्र 2021-24 के डिग्री पार्ट वन में 28000 और पार्ट 2 में 36000 छात्र-छात्राएं नामांकित हैं। वोकेशनल कोर्स का 3 कोर्स यहां चलाया जा रहा है।

बीएन मंडल विश्वविद्यालय 

दो साल पीछे है सत्र बीएन मंडल विश्वविद्यालय मधेपुरा का सत्र दो साल से विलंब है। यहां पर स्नातकोत्तर (पीजी) ( सत्र 2018- 20) फोर्थ सेमेस्टर नामांकन की प्रक्रिया खत्म होने के बाद परीक्षा फॉर्म भरना बाकी है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.