February 8, 2023

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर राहुल गांधी ने लोकसभा में दिया जवाब, अंबानी, अडानी का नाम ले मोदी सरकार पर साधा निशाना

नई दिल्ली

संसद में बजट पेश होने के बाद से ही विपक्ष इसको लेकर भाजपा सरकार पर हमलावर है। बुधवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर जवाब देते हुए मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की। राहुल गांधी ने कहा, राष्ट्रपति का भाषण सच से दूर है। इसमें दो इंडिया के बारे में नहीं बताया गया।

84 फीसदी लोगों की आमदनी घट गई है और वे तेजी से गरीबी की तरफ बढ़  रहे हैं। यूपीए की सरकार ने 23 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला था। यह हमारा आंकड़ा नहीं है। राहुल गांधी जब यह बोल रहे थे तो सत्ता पक्ष के सांसद हंसने लगे। इसपर राहुल गांधी ने कहा, यह हमारा आंकड़ा नहीं है। आप हंसिए।

ऐसे चुटकी लेने लगे राहुल गांधी

राहुल गांधी ने भाजपा सरकार को कोरोना का वेरिएंट बता दिया। उन्होंने कहा, एक व्यक्ति को हिंदुस्तान के सभी पोर्ट्स, पावर, ट्रांसमिशन, माइनिंग, ग्रीन एनर्जी सब दे दिया गया। राहुल गांधी ने अडानी का नाम भी लिया। उन्होंने कहा, दूसरी तरफ अंबनी जी पेट्रोल केमिकल, ई कॉमर्स में मोनोपॉली बनाए हुए हैं। पूरा का पूरा धन चुने हुए लोगों के हाथ में जा रहा है।

नहीं हो सकता मेड इन इंडिया’

राहुल गांधी ने कहा मेड इन इंडिया करने के लिए लघु एवं मध्यम उद्योगों को बढ़ावा देना पड़ेगा। लेकिन पिछले 6 साल में मैन्युफैक्चर सेक्टर में 46 फीसदी रोजगार कम हो गए हैं। मुझे बड़े उद्दोगों से परेशानी नहीं है।

मोदी सरकार के नारे बोलने लगे राहुल गांधी

राहुल गांधी ने मोदी सरकार के नारों का जिक्र करते हुए कहा कि नारे लगाकर सरकार देश को गरीब बना रही है। इस हिंदुस्तान को सब कुछ दिख रहा है। लोगों को दिख रहा है कि आज ये आंकड़ा इस सरकार की देन है। आज हिंदुस्तान के 100 सबसे अमीर लोगों के पास 55 करोड़ लोगों से ज्यादा जायदाद है। 10 लोगों के पास 40 प्रतिशत हिंदुस्तान से ज्यादा धन है। ये नरेंद्र मोदी जी ने किया है। मैं प्रधानमंत्री जी को सुझाव देता हूं कि दो हिंदुस्तान जो आप बना रहे हैं इसको जोड़ने का काम शुरू कीजिए।

राहुल गांधी ने कहा, ‘मेरी मां ने 32 गोलियां खाई हैं, मेरे दादा वर्षो तक जेल में रहे हैं। इसलिए हम इस देश की कीमत जानते हैं।’

राहुल गांधी के भाषण के दौरान बार-बार हुआ हंगामा

राहुल गांधी के भाषण के दौरान कई बार भाजपा नेताओं ने विरोध किया। राहुल जब एक घटना का जिक्र करते हुए कहने लगे कि प्रधानमंत्री के सामने लोगों को जूते उतारकर जाना पड़ा। इसपर धार्मिक परंपरा का हवाला देते हुए पियूष गोयल ने आपत्ति जताई।

जब चीन का ‘प्लान’ बताने लगे राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा, आपको विचार करना चाहिए कि भारत आज अलग-थलग क्यों हो गया। गणतंत्र दिवस पर हमें कोई चीफ गेस्ट क्यों नहीं मिला। उन्होंने कहा, ‘चीन के लोगों के पास बहुत ही साफ विजन है। वे जानते हैं कि उन्हें क्या करना है। आपको चीन और पाकिस्तान को अलग करना चाहिए था लेकिन आप उन्हें साथ ले आए। ये सबसे बड़ा अपराध है। मैं स्पष्ट रूप से देख रहा हूं कि चीन के पास एक प्लान है। डोकलाम औऱ लद्दाख में चीन ने नींव रख दी है। यह सबसे बड़ी चुनौती है। हमने जम्मू औऱ कश्मीर में भी बड़ी रणनीतिक भूल की है। अगर हम इसे नहीं सुधारेंगे तो देशवासियों को भुगतना होगा।’

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.