October 4, 2022

अब दाखिल-खारिज में मनमानी नहीं चलेगीः आवेदन रद्द करने वाले 33 सीओ सस्पेंड, आज से 4353 नए कर्मचारी करेंगे काम

पटना

राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय ने कहा कि बिना सटीक कारण बताए दाखिल-खारिज से जुड़े आवेदन रद्द करने के आरोप में अब तक 33 सीओ निलंबित किये जा चुके हैं। साथ ही जमीन से जुड़े अन्य तरह के मामलों में गड़बड़ी या मनमानी करने वाले सैकड़ों सीओ से शोकॉज किया जा चुका है। इनके जवाब की समीक्षा करने के बाद दोषी पाये गये सीओ पर निलंबन से लेकर बर्खास्तगी तक की कार्रवाई की जायेगी। सभी डीएम को भी जांच करके दोषी सीओ पर कार्रवाई करने को कहा गया है।

4,353 राजस्व कर्मचारियों की आज मंत्री करेंगे तैनाती

विभागीय मंत्री ने सचिवालय स्थिति अपने कार्यालय कक्ष में सोमवार को आयोजित प्रेस वार्ता में कहा कि 4,353 राजस्व कर्मचारियों की पोस्टिंग ऑनलाइन रैंडम तरीके से मंगलवार को की जायेगी, ताकि किसी की तैनाती गृह जिले में नहीं हो। इनकी बहाली के लिए 2014 में वैकेंसी निकाली गयी थी। वर्तमान में राजस्व कर्मियों की संख्या 1800 है। फिर भी और कर्मचारियों की जरूरत है। इनकी बहाली जल्द की जायेगी।

ट्रांसफर-पोस्टिंग विवाद पर कहा, उनकी किसी से कोई लड़ाई नहीं

मंत्री ने ट्रांसफर-पोस्टिंग के पुराने विवाद पर कहा कि उनकी किसी से कोई लड़ाई नहीं है। यह किसी का निजी नहीं, बल्कि सरकारी काम है और सब कानून से चलता है। विभागीय स्तर पर फिर से इसकी समीक्षा की जा रही है। जल्द ही अटके ट्रांसफर-पोस्टिंग हो जाएगी।

मंत्री ने बताया कि अप्रैल से जुलाई तक 270 अंचलों में एक हजार 1799 अतिक्रमण हटाये गये हैं। इसमें 1147 गैरमजरूआ आम, 286 मामले गैर-मजरूआ खास, 198 मामले सरकारी जमीन, 10 कैसरे हिन्द जमीन, तीन खासमहाल और 155 मामले अन्य तरह की जमीन से संबंधित हैं। बचे जिन 264 अंचलों ने अतिक्रमण संबंधित रिपोर्ट नहीं सौंपी है, उन्हें 15 दिनों में रिपोर्ट देने को कहा गया है। ऐसा नहीं करने वाले अंचलों पर कार्रवाई की जायेगी। अतिक्रमण हटाने के लिए सभी जिलों को तीन करोड़ 87 लाख दिये गये हैं। वहीं, जिनका अतिक्रमण हटाया गया है, उनसे राशि की भी वसूली की जायेगी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.