January 28, 2023

मुजफ्फरपुरः छेड़खानी के डर से पढ़ाई छोड़ रहीं हैं छात्राएं, मनचलों पर पुलिस मेहरबान

मुजफ्फरपुर

मुजफ्फरपुर में स्कूल, कॉलेज व कोचिंग संस्थानों के आसपास छात्राओं से छेड़खानी की घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस गंभीर नहीं दिख रही है। इस वजह से शोहदों का आतंक खत्म नहीं हो रहा है। मनचलों के डर से छात्राएं स्कूल, कॉलेज और कोचिंग जाने से कतरा रहीं हैं है। इस बीच बदनामी से बचने के लिए परिजन केस दर्ज कराने हिचकते हैं, लेकिन मामले में पुलिस की कार्रवाई नहीं होने से वे काफी चिंतित हैं।

आंकड़े पर एक नजर डालें तो जिले के शहरी थानों में पिछले साल छेड़खानी के 32 केस दर्ज कराए गए, लेकिन अधिकांश मामले में पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं होने से छात्राओं के परिजन आरोपितों से केस मैनेज करने के लिए मजबूर हैं। कोरोना संक्रमण के मामले कम होने पर नियमित कक्षाएं शुरू होने के बाद से स्कूल, कॉलेज और कोचिंग के आसपास बाइक सवार शोहदों का जमावड़ा बढ़ गया है। बीते 19 फरवरी को मिठनपुरा के एक शैक्षणिक संस्थान की दर्जनभर छात्राओं ने शिक्षिकाओं के साथ डीएम कार्यालय पहुंचकर इस संबंध में शिकायत की थी। इसके बाद भी मिठनपुरा में शोहदों पर नकेल के लिए पुलिस गश्त नहीं हो रही है।

कार्रवाई नहीं होने पर केस हो जा रहा मैनेज

कांटी की एक छात्रा से कोचिंग जाने के दौरान तीन शोहदों ने छेड़खानी की थी। छात्रा के विरोध करने पर एसिड अटैक की धमकी दी गई। छात्रा की मां ने कांटी थाने में एफआईआर दर्ज कराई। छह माह बीत गए, पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। अंतत: आरोपित युवकों से पीड़ित के परिजनों ने सुलह कर लिया।

बेटियां डरी-सहमी पहुंचतीं हैं स्कूल

रामबाग की एक स्कूली छात्रा से छुट्टी के बाद दो शोहदे ने छेड़खानी की। परेशान छात्रा ने परिजन और स्कूल प्रबंधन को जानकारी दी। 19 फरवरी को शिक्षक-शिक्षिका के साथ डीएम कार्यालय में पहुंचकर शिकायत की। इसके बावजूद पुलिस ने शोहदों के खिलाफ सख्त कदम नहीं उठाया। अब भी शोहदे स्कूल के आसपास मंडराते रहते हैं। इसे छात्रा डरी-सहमी स्कूल पहुंचती है।

भीड़ ने पकड़ा, पुलिस ने छोड़ दिया

मिस्काट लेन में 19 फरवरी की सुबह छात्रा से छेड़खानी पर भीड़ ने शोहदे की पकड़कर पिटाई कर दी। इसके बाद गश्ती पुलिस को बुलाकर सौंप दिया। अगले दिन थाने से उसको निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया। थानेदार की दलील कि किसी ने केस दर्ज नहीं कराया।

विरोध पर ब्लैकमेल

अहियापुर की छात्रा ने छेड़खानी का विरोध किया तो शोहदों ने फोटोशॉप से आपत्तिजनक तस्वीर बना ली। छात्रा के पिता के मोबाइल पर तस्वीर भेज वायरल करने की धमकी दी। रुपये की भी डिमांड की। पिता ने केस किया, पर कार्रवाई नहीं हुई।

क्या कहते हैं एसएसपी

इस मामले में एसएसपी जयंतकांत ने कहा कि नगर डीएसपी को स्कूल संचालन के समय पर पुलिस गश्त कराने और छेरड़खानी की घटनाओं को अंजाम देने वाले शोहदों के खिलाफ अभियान चलाने के सख्त निर्देश दिए गए हैं। छेड़खानी के मामलों में त्वरित कार्रवाई होगी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.