October 7, 2022

वृद्ध महिला को आदमखोर कुत्तों ने नोंच-नोंच कर मार डाला, अब तक तीन महिलाओं को बना चुके हैं अपना निवाला

बछवाड़ा

बेगूसराय के रुदौली पंचायत के भरौल सुरहा चौर में बुधवार को खेत में काम कर रही एक वृद्ध महिला की कुत्तों के झुंड ने नोंच-नोंच कर जान ले ली। फिर उसके पैर और हाथ के मांस को अपना निवाला बना लिया। मृतका की पहचान रूदौली पंचायत के वार्ड संख्या- तीन भरौल गांव निवासी स्वर्गीय योगेंद्र ठाकुर की 55 वर्षीया पत्नी मंजूला देवी के रूप में की गई है। उक्त महिला बुधवार की सुबह करीब 6:00 बजे भरौल सुरहा चौर स्थित एक खेत में मक्के की बाली छीलने अकेली ही गई थी।

ग्रामीणों ने बताया कि मकई की बाली छील रही उक्त महिला के समीप 10-12 की संख्या में कुत्तों का झुंड पहुंचा और अचानक उस पर टूट पड़ा। महिला के चीखने पर उससे करीब 100 मीटर दूर खेत में काम कर रहे मजदूर जब उसे बचाने पहुंचा तब कुत्तों का झुंड उक्त मजदूर की तरफ भी लपक पड़ा। उसने पास स्थित एक पेड़ पर चढ़कर अपनी जान बचाई। बहियार से करीब 500 मीटर के इर्द-गिर्द कोई घर या लोगों का वास स्थल नहीं है।

पेड़ पर चढ़ा उक्त मजदूर करीब घंटे भर बेबस लाचार बना रहा। कुछ देर तक महिला के हाथ पैर के मांस को निवाला बनाने के बाद कुत्तों का झुंड जब वहां से बहियार की तरफ दूर भाग निकला तब मजदूर ने गांव पहुंचकर घटना के बारे में लोगों को जानकारी दी। घटनास्थल पर आसपास के लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। महिला की क्षत-विक्षत लाश को देखते ही परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों ने कहा कि उक्त महिला अपने साथ दोपहर का भोजन व एक डिब्बे में पानी भरकर अपने साथ लायी थी। उसके शव के पास भोजन की पोटली व पानी सुरक्षित रखा मिला।

महिलाओं को ही बना रहा शिकार

ग्रामीणों ने कहा कि अरवा, रुदौली, कादराबाद, भरौल, रानी दरधा चौर में आदमखोर कुत्तों का झुंड लगातार महिलाओं को अपना निवाला बना रहा है। विगत 26 फरवरी 2021 को अरवा चकरायर की 70  वर्षीया सोमनी देवी को पत्ता चुनने के दौरान कुत्तों ने नोच नोच कर जान ले ली थी। पिछले माह कादराबाद बहियार में मवेशी का घास काटने गई महिला को कुत्तों ने नोच- नोच कर मार डाला।

वन विभाग के खिलाफ फूटा आक्रोश

लगातार हो रही घटना के बावजूद वन विभाग के अधिकारी या स्थानीय प्रशासन के द्वारा कोई सकारात्मक पहल नहीं किया जाने से लोगों ने आक्रोश प्रकट की। घटनास्थल पर स्थानीय पुलिस प्रशासन व बीडीओ कुमारी पूजा को ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। बीडीओ ने मृतका के परिजनों को तात्कालिक राष्ट्रीय परिवारिक लाभ योजना के तहत 20 हजार रुपये देने तथा श्रमिक कार्ड के आधार पर दो लाख रुपये मुआवजा का भुगतान करवाने का आश्वासन देकर लोगों के गुस्से को शांत किया। बीडीओ ने मामले की सूचना वन विभाग के अधिकारियों को देकर आदमखोर इन कुत्तों से बहियार को मुक्त बनाने में सहयोग की अपील की।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.