January 30, 2023

शराबबंदी: पुलिस ने नकली शराब बनाने की तीन फैक्ट्री पकड़ी, डिलीवरी बॉय के जरिए पहुंचे एसएसपी; ऐसे चलता था तस्करी का कारोबार

पटना

होली के मौके पर शराब माफियाओं के खिलाफ की गई छापेमारी में पत्रकारनगर थाने की पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली। पुलिस ने असली बोतल में नकली शराब बनाने की फैक्ट्री व गोदाम का भंडाफोड़ करते हुए गिरोह से जुड़े तीन तस्करों व गोदाम मालिक को गिरफ्तार कर लिया। यह फैक्ट्री पत्रकारनगर थाना क्षेत्र के विजयनगर, पटना सिटी के आलमगंज व गौरीचक थाना क्षेत्र के अजीमचक में चल रही थी। पकड़े गए आरोपितों में बब्लू कुमार, संजय कुमार, अरविंद मिश्रा व गौरीचक का गोदाम मालिक सन्नी कुमार शामिल हैं।

सन्नी मूलरूप से बड़ी पहाड़ी अगमकुआं का रहनेवाला है। आरोपितों के कब्जे से बड़े पैमाने पर महंगे ब्रांड की खाली शराब की बोतलें, फैक्ट्री में तैयार किए गए ढक्कन, रैपर, स्टीकर, बार कोड, मशीन, केमिकल, स्कूटी समेत अन्य उपकरण जब्त किए गए हैं। गिरफ्तार आरोपितों के खिलाफ पत्रकारनगर थाने में उत्पाद अधिनियम की सुसंगत धाराओं में केस दर्ज किया गया है। पुलिस उनके पूरे सिंडिकेट को खंगालने में जुटी है। शराब की सप्लाई कहां-कहां की गई है। यह भी पता लगाया जा रहा है। जल्द ही इस गिरोह के सरगना समेत कुछ और आरोपित गिरफ्तार किए जा सकते हैं।

लग्जरी गाड़ी व स्कूटी से करते थे शराब की सप्लाई

एसपी सिटी पूर्वी प्रमोद कुमार यादव व सदर एसपी संदीप सिंह के मुताबिक शनिवार की रात शराब की होम डिलेवरी करने जा रहे बब्लू कुमार को पकड़ा गया। उसकी स्कूटी की डिक्की से दो बोतल अंग्रेजी शराब पकड़ी गई। जांच में पता चला कि पकड़ा गया बब्लू नकली शराब बनाने व बेचने वाले बड़े गिरोह का सदस्य है। पूछताछ में आरोपित ने बताया कि उसके गिरोह द्वारा पत्रकारनगर, पटना सिटी व गौरीचक में शराब की फैक्ट्री सह गोदाम बनाया गया है। शराब बनाने व बेचने में गिरोह द्वारा मोटी रकम लगाई गई है। शराब की होम डिलीवरी करने के लिए लग्जरी गाड़ियों व स्कूटी डिलेवरी ब्वॉय का इस्तेमाल किया जाता है।

किराये पर लिये गये थे गोदाम

आरोपित की निशानदेही पर सबसे पहले पत्रकारनगर के विजयनगर में अरविंद मिश्रा के मकान में छापेमारी की गई। जहां भारी मात्रा में विदेशी शराब बनाने के लिए रखी गई सामग्री बरामद की गई। इस आरोप में पुलिस ने मकान मालिक अरविंद मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद पुलिस ने गौरीचक स्थित अजीम चक के एक तीन मंजिले मकान में छापेमारी कर स्प्रीट, अवैध दवाइयां पकड़ी गईं। इस आरोप में गोदाम मालिक सन्नी को गिरफ्तार किया गया। इसी कड़ी में गुरहट्टा खाजेकला पटना सिटी में संजय कुमार के दो गोदाम में छापेमारी की गई। यहां से अवैध शराब की पैकिंग के लिए छिपाकर रखे गए भारी मात्रा में बोतल बरामद किए गए और संजय को गिरफ्तार कर लिया गया।

कोड वर्ड का इस्तेमाल कर दोगुने दाम पर करते थे होम डिलेवरी

पुलिस को पूछताछ में पता चला है कि आरोपित असली बोतल में नकली शराब भरते थे। बाद में मशीन से बोतलों पर ढक्कन, स्टीकर, बार कोड, रैपर आदि चिपका देते थे। शराब की खाली बोतलों की सप्लाई पटना सिटी का पकड़ा गया संजय कुमार अपने खुद के वाहन से करता था। इसके एवज में वह मोटी रकम लेता था। शराब की डील व्हाटसएप, मैसेज से संदेश भेजकर की जाती थी। कोड वर्ड के जरिए भी शराब का सौदा तय किया जाता था। डील तय होने पर दोगुने दाम पर शराब की होम डिलीवरी की जाती थी।

पुलिस की अपील, तस्करों के बताएं नाम

पुलिस ने आमजन से अपील की है कि किसी तरह की शराब न पिएं। यदि इस तरह की कोई शराब खरीदी हो तो उसे नष्ट कर दें। जिनके द्वारा शराब की होम डिलीवरी की जा रही हो, उनके नाम-पते की जानकारी पुलिस से जरूर साझा करें, ताकि संबंधित धंधेबाजों को पकड़ा जा सके।

डिलीवरी ब्वॉय के सहारे फैक्ट्री पहुंचे एसएसपी

शराब की होम डिलेवरी करने के मामले में पकड़े गए बब्लू के सहारे एसएसपी डॉ. मानवजीत सिंह ढिल्लो नकली शराब बनाने वाली फैक्ट्री तक पहुंच गए। पत्रकारनगर व गौरीचक थाने पहुंचकर एसएसपी ने खुद बब्लू से कई राज उगलवाए। इसके बाद पुलिस टीम के साथ उन्होंने तीन फैक्ट्रियां पकड़ीं।

गिरफ्तार आरोपित

1.बब्लू कुमार यादव, निवासी कौआहिटोल बरहारा, नकटी थाना राजनगर मधुबनी
2.संजय कुमार, निवासी गुरहट्टा, थाना खाजेकला पटना सिटी
3.अरविंद कुमार मिश्रा, निवासी विजयनगर थाना पत्रकारनगर
4. सन्नी कुमार, निवासी बड़ी पहाड़ी थाना अगमकुआं

बरामद उपकरण व सामग्री

गिरफ्तार आरोपितों के कब्जे से पुलिस ने नकली शराब बनाने में इस्तेमाल किए जाने वाले विभिन्न उपकरण व सामग्रियां जब्त की हैं। इनमें इंपीरियल ब्लू नौ बोतल, रॉयल स्टेग 220 बोतल, मेक डॉवल 1 बोतल, एक लीटर गाढ़ा रसायन, रॉयल स्टेग शराब के बॉटल का ढक्कन 674 पीस, मेक डॉवल का ढक्कन 258 पीस, इंपीरियल ब्लू का ढक्कन 1510 पीस, रॉयल स्टेग की खाली बोतल-53, मेक डॉवल की खाली बोतल 85, इंपीरियल ब्लू की खाली बोतल 83, स्टीकर 20 पीस, पैकिंग रैपर 20, सीलिंग टैग एवं स्टीकर 403, कंटेनर सहित 380 लीटर स्प्रीट, ब्लू रंग का खाली कंटेनर 04, हीरो कंपनी की एक मैस्ट्रो स्कूटी, एक स्क्रीन टच कीपैड मोबाइल, झारखंड निर्मित लिखा हुआ बार कोड 4 पत्ता, पश्चिम बंगाल व हरियाणा निर्मित बार कोड 17 पत्ता शामिल है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.