September 30, 2022

संविदाकर्मियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू, सरकार पर लगाया उपेक्षापूर्ण रवैया अपनाने का आरोप

लखीसराय

संविदाकर्मियों ने बुधवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है। लखीसराय में इसे लेकर समाहरणालय स्थित धरनास्थल पर बुधवार को संविदाकर्मियों ने धरना देकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कर्मियों ने कहा कि सरकार उन लोगों की मांगों पर ध्यान नहीं दे रही है। यह आंदोलन शुरू हुआ है, तो अब अपनी मांगों को मनवाकर ही शांत होगा। 12 सूत्री मांगों का एक ज्ञापन भी विभागीय अधिकारियों व सरकार को सौंपा गया है।

धरना मौजूद संविदाकर्मियों ने कहा कि बिहार सरकार सामान्य प्रशासन विभाग के एक पत्र में निहित शर्तों एवं प्रक्रियाओं के अधीन भू-अभिलेख एवं परिमाप बिहार, पटना के अंतर्गत विशेष सर्वेक्षण सहायक बंदोबस्त पदाधिकारी, विशेष सर्वेक्षण कानूनगो, विशेष सर्वेक्षण अमीन एवं विशेष सर्वेक्षण लिपिक का नियोजन संविदा आधारित है।

वहीं एक पत्र में यह भी निर्देशित है कि इन अधिकारियों व कर्मियों को कुछ सुविधाएं भी सरकार के स्तर से मिलनी है, जिसका अनुपालन नहीं हो रहा है। उपलब्ध समान समकक्ष पद के प्रारंभिक स्तर का वेतन, महंगाई भत्ता एवं अन्य अनुमान्य भत्तों को मिलाकर समेकित रूप से प्राप्त योगफल के बराबर मानदेय नहीं दिया जा रहा।

प्रत्येक माह के अंतिम तिथि को मानदेय का भुगतान हो जाना चाहिए, लेकिन इसमें विलंब किया जा रहा है। योगदान की तिथि से जिला मुख्यालय में पदस्थापन तक का बकाया मानदेय और छह माह के बकाया मानदेय का भुगतान एकमुश्त हो। सभी विशेष सर्वेक्षण में कार्यरत कर्मियों के वाहन के लिए ईंधन या फिर यात्रा भत्ता दिया जाए।

ऑनलाइन कार्य के लिए इंटरनेट की सुविधाएं, शिविर कार्यालयों में मूलभूत सुविधाएं जैसे बिजली, पानी एवं शौचालय की व्यवस्था हो। नियोजन अवधि में मृत कर्मियों के निकटतम संबंधी को चार लाख रुपए अनुग्रह अनुदान दिया जाए। धरना में बड़ी संख्या में संविदाकर्मी मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.