January 30, 2023

खुशखबरीः रिम्स में नवजात बच्चों के लिए शुरू हुई ओपीडी, बिहार-झारखंड की पहली सुविधा

रांची

बिहार और झारखंड के नागरिकों के लिए एक अच्छी खबर है। राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में पहली बार नवजात बच्चों के लिए नियोनेटोलॉजी विभाग की ओपीडी शुरू हुई। निदेशक डॉ कामेश्वर प्रसाद ने ओपीडी का उद्घाटन किया। चिकित्सकों के अनुसार बिहार और झारखंड के किसी भी मेडिकल कॉलेज में इस तरह की यह पहली ओपीडी होगी।

सप्ताह में सिर्फ एक दिन बुधवार को इस ओपीडी का संचालन होगा। नियोनेटोलॉजी विभाग के चिकित्सक डॉ किरण शंकर दास ने बताया कि इस ओपीडी के खुल जाने से नियोनेटोलॉजी विभाग में भर्ती बच्चों के इलाज के बाद फॉलोअप में परेशनी नहीं होगी। पहले ऐसे बच्चों को सीधा विभाग में बुलाकर देखना पड़ता था या फिर पीडियाट्रिक ओपीडी में दिखाना पड़ता था। उद्धाटन के दौरान डॉ कामेश्वर प्रसाद ने बताया कहा कि भविष्य में अधिक रिस्क वाले नवजात के फोलोअप के लिए न्यूरो डेवलपमेंटल क्लीनिक शुरू करने की योजना है।

छुट्टी के बाद नहीं हो पाता था नवजात का फॉलोअप

नियोनेटोलॉजी विभाग में प्रतिदिन 50 के करीब नवजात भर्ती होते हैं। ऐसे बच्चों की जब अस्पताल से छुट्टी हो जाती थी तो उसके बाद ईलाज करने वाले डॉक्टरों से फॉलोअप नहीं मिल पाता था। उन्हें शिशु रोग विभाग के डॉक्टरों से सलाह लेनी पड़ती थी। ओपीडी खुल जाने से अब नवजात बच्चों के विशेषज्ञ डॉक्टरों से सलाह मिल सकेगी। डॉ दास ने बताया कि ओपीडी में वैसे नवजात को परामर्श आसानी से मिल सकेगा जिन्हें दूध नहीं पीने, लगातार उल्टी करने और जॉडिंस जैसी समस्याएं होती हैं। इसके अलावा वैक्सीनेशन संबंधी परेशानी से भी निजात मिल सकेगी। उद्घाटन के मौके पर कामेश्वर प्रसाद के अलावा रिम्स के अधीक्षक डॉ बीरूआ,उपाधीक्षक डॉ शैलेश त्रिपाठी, शिशु रोग के विभागाध्यक्ष डॉ अमर वर्मा, नियोनेटल एचओडी डॉ राजीव मिश्रा, वरीय चिकित्सक डॉ किरण शंकर दास, डॉ रामेश्वर प्रसाद, डॉक्टर प्रीता नाज दुबराज के अलावा अन्य वरीय चिकित्सक उपस्थित थे।

डॉ विनीत महाजन बनाए गए सीटीवीएस विभाग के एचओडी

डॉ विनीत महाजन को सीटीवीएस विभाग का नया एचओडी नियुक्त किया गया है। डॉ विनीत महाजन ने सोमवार को सीटीवीएस विभाग में प्रोफेसर के पद पर योगदान दिया था। बुधवार को रिम्स ने कार्यालय आदेश जारी करते हुए एसोसिएट प्रोफेसर डॉ अंशुल के स्थान पर उन्हें एचओडी नियुक्त किया है। डॉ विनीत महाजन अगले आदेश तक रिम्स के सीटीवीएस विभाग के एचओडी बने रहेंगे। डॉ महाजन ने बताया है कि उनकी प्राथमिकता कार्डिएक सर्जरी विभाग में मरीजों का इलाज छोटे चीरे के माध्यम से करना है। महाजन इससे पहले एम्स देवघर में पदास्थापित थे। वे एम्स भोपाल, ग्रांट मेडिकल कॉलेज मुंबई, नारायणा इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डिएक साइंस बैंग्लोर में सेवा दे चुके हैं।

मिलेगी सलाह

● झारखंड-बिहार के किसी भी मेडिकल कॉलोजों में यह पहली ओपीडी

● सप्ताह में सिर्फ एक दिन बुधवार को ओपीडी का संचालन होगा

● नियोनेटोलॉजी विभाग में भर्ती बच्चों के इलाज और फॉलोअप में परेशानी नहीं होगी

● अस्पताल से छुट्टी के बाद भी आसानी से मिलेगा परामर्श

● वैक्सीनेशन सहित अन्य समस्याएं होंगी दूर

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.