October 4, 2022

रिटायरमेंट के बाद भी सेवा देने के इच्छुक पुलिसवालों के लिए गुडन्यूज, कॉन्ट्रैक्ट पर होगी एएसआई से इंस्पेक्टर तक की नियुक्ति, 18 जून तक करें आवेदन

पटना

सेवानिवृत्त कनीय पुलिस पदाधिकारियों को संविदा पर नियुक्त करने का रास्ता साफ हो गया है। एएसआई से इंस्पेक्टर तक को संविदा पर लिए जाने के लिए पुलिस मुख्यालय ने सरकार के दिशा-निर्देशों के तहत मापदंड तय कर दिए हैं। सिर्फ उन्हीं सेवानिवृत्त पुलिस कर्मियों को इस नियुक्ति का लाभ मिलेगा, जिन्होंने इससे पहले संविदा पर काम नहीं किया है। इससे पहले भी पुलिस मुख्यालय ने आवेदन मांगा था पर किसी की संविदा पर नियुक्ति नहीं हुई थी।

पुलिस मुख्यालय के मुताबिक फिलहाल संविदा पर उन्हीं पुलिसकर्मियों (सहायक अवर निरीक्षक से पुलिस निरीक्षक एवं समकक्ष कोटि तक) को नियोजित किया जाएगा, जो 1 अप्रैल 2020 से 31 अगस्त 2021 के बीच बिहार पुलिस से सेवानिवृत्त हुए हैं। यह नियोजन प्रोन्नति कोटा के रिक्त पदों के खिलाफ होगा और आदेश जारी होने की तिथि से मात्र एक वर्ष के लिए प्रभावी होगा। यदि एक वर्ष के अंदर संबंधित पद पर नियमित नियुक्ति या प्रोन्नति से कर्मी उपलब्ध होते हैं तो संविदा नियोजन स्वत: समाप्त समझा जाएगा। इसके अलावा भी कई मापदंड तय किए गए हैं जिसके तहत यह नियोजन सिर्फ एक बार के लिए होगा।

एडीजी मुख्यालय जेएस गंगवार ने कहा, ‘कनीय पुलिस पदाधिकारी जो 1 अप्रैल 2020 से 31 जुलाई 2021 के बीच सेवानिवृत्त हुए हैं उन्हें सरकार के नियम के तहत दोबारा पुलिस में काम करने का अवसर दिया जा रहा है। स्वस्थ और काम के लिए इच्छुक पुलिसकर्मी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।’

18 जून तक कर सकेंगे आवेदन

संविदा पर नियुक्ति के इच्छुक एएसआई से इंस्पेक्टर व समकक्ष रैंक के पुलिस अधिकारी उसी जिला या इकाई में आवेदन देंगे, जहां से वे सेवानिवृत्त हुए हैं। 18 जून तक उन्हें आवेदन समर्पित करना होगा। इसके बाद जमा किए गए आवेदनों पर विचार नहीं किया जाएगा। कार्यालय प्रधान कई बिंदुओं पर छानबीन कर अपनी अनुशंसा के साथ पुलिस मुख्यालय को 25 जून तक प्रस्ताव भेजेंगे। वहीं संविदा नियोजन के लिए वैसे पुलिसकर्मी जिन्होंने संविदा नियोजन के लिए पूर्व में आवेदन दिया है, उन्हें फिर से आवेदन देने की जरूरत नहीं है।

इन शर्तों को पूरा करने पर नियोजन

पुलिस मुखालय के कार्मिक एवं कल्याण प्रभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के तहत संविदा नियोजन उसी पद के लिए होगा जिस पद से संबंधित कर्मी सेवानिवृत्त हुए हैं। इसके अलावा आवेदन करनेवाले सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारियों पर कोई आपराधिक या अनुशासनिक कार्रवाई लंबित नहीं होनी चाहिए। ऐसे किसी मामले में सेवाकाल के अंतिम दस वर्षों में कोई वृहद दंड नहीं मिला हो। वहीं सेवाकाल के अंतिम पांच वर्षों में कोई दंड नहीं दिया गया है। आवेदक इस बाबत घोषणा पत्र देंगे कि वह पहले से संविदा पर कार्यरत नहीं हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.