October 4, 2022

गरीबों का राशन के लिए 30 हजार रुपये क्विंटल मांगी थी घूस, एक साथ दो बीएसओ की गिरफ्तारी से हड़कंप

समस्तीपुर

समस्तीपुर जिले में सदर एसडीओ कार्यालय परिसर स्थित एडीएसओ कार्यालय में सदर अनुमंडल के सभी एमओ की बैठक बुलायी गयी थी। इसी दौरान खानपुर बीएसओ ने सरायरंजन बीएसओ की मदद से डीलर से बकाया राशि पहुंचाने का समय तय कर दिया। लेकिन मंगलवार का दिन इन दोनों एमओ के लिए काला दिवस के रुप में हो गया।

चर्चा है कि खानपुर एमओ से डीलर से मांगी गयी रिश्वत की राशि को मैनेज कराने की भूमिका में सरायरंजन एमओ थे। जिसके कारण खानपुर बीएसओ प्रिया सत्संगी ने डीलर से पचास हजार रुपए लेने के साथ ही सरायरंजन एमओ राजीव कुमार को सौंप दी। यह सभी लेनदेन की प्रक्रिया निगरानी विभाग की टीम के समक्ष हो रही थी, लेकिन दोनों बीएसओ राशि को आदान-प्रदान करने में मस्त थे। इसी दौरान निगरानी विभाग की टीम ने दोनों को दबोच लिया।

मिली जानकारी के अनुसार खानपुर बीएसओ अक्टूबर 2021 में योगदान किया था। उसने रेबड़ा के डीलर हरि प्रसाद राय से अक्टूबर 21 से अप्रैल 22 तक उठाए गए राशन किराशन में तय की गयी राशि एक मुश्त देने को कहा। डीलर से मिली जानकारी के अनुसार पीएमएकेवाई में 30 रुपए व एमएफएसए में 50 रुपए प्रति क्वींटल की दर से डिमांड की गयी थी। वहीं केरोसिन तेल में भी 50 पैसे प्रति लीटर के दर से राशि मांगी गयी थी। अक्टूबर 21 से अप्रैल 22 तक किए गए हिसाब के अनुसार लगभग 70 हजार रुपए की मांग की गयी थी। जिसके बाद डीलर ने इसकी शिकायत निगरानी विभाग से लिखित में कर दी। फिर तय तिथि के अनुसार एडीएसओ कार्यालय में बैठक से पूर्व ही 50 हजार रुपए लेते हुए निगरानी के हत्थे चढ़ गयी।

चर्चा है कि खानपुर एमओ से डीलर से मांगी गयी रिश्वत की राशि को मैनेज कराने की भूमिका में सरायरंजन एमओ थे। जिसके कारण खानपुर बीएसओ प्रिया सत्संगी ने डीलर से पचास हजार रुपए लेने के साथ ही सरायरंजन एमओ राजीव कुमार को सौंप दी। यह सभी लेनदेन की प्रक्रिया निगरानी विभाग की टीम के समक्ष हो रही थी, लेकिन दोनों बीएसओ राशि को आदान-प्रदान करने में मस्त थे। इसी दौरान निगरानी विभाग की टीम ने दोनों को दबोच लिया।

मिली जानकारी के अनुसार खानपुर बीएसओ अक्टूबर 2021 में योगदान किया था। उसने रेबड़ा के डीलर हरि प्रसाद राय से अक्टूबर 21 से अप्रैल 22 तक उठाए गए राशन किराशन में तय की गयी राशि एक मुश्त देने को कहा। डीलर से मिली जानकारी के अनुसार पीएमएकेवाई में 30 रुपए व एमएफएसए में 50 रुपए प्रति क्वींटल की दर से डिमांड की गयी थी। वहीं केरोसिन तेल में भी 50 पैसे प्रति लीटर के दर से राशि मांगी गयी थी। अक्टूबर 21 से अप्रैल 22 तक किए गए हिसाब के अनुसार लगभग 70 हजार रुपए की मांग की गयी थी। जिसके बाद डीलर ने इसकी शिकायत निगरानी विभाग से लिखित में कर दी। फिर तय तिथि के अनुसार एडीएसओ कार्यालय में बैठक से पूर्व ही 50 हजार रुपए लेते हुए निगरानी के हत्थे चढ़ गयी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.