February 8, 2023

हथियार और शराब सप्लाई करने वाले बाप-बेटे अरेस्ट, राजनीतिक पार्टी का झंडा लगा पुलिस को देते थे चकमा

पटना

पटना के दीघा थाने की पुलिस ने सोमवार की देर शाम रामजीचक यादव गली में छापेमारी कर हथियार, कारतूस और महंगे ब्रांड की शराब सप्लाई करने वाले बाप-बेटा को गिरफ्तार कर लिया जबकि कई आरोपित भाग निकले। गिरफ्तार आरोपित में राजकिशोर राय व उसका बेटा रामकुमार राय शामिल है।

मकान के करीब आठ कमरों से विभिन्न महंगे ब्रांड की 91.950 लीटर अंग्रेजी शराब जब्त की गई, जिसकी कीमत करीब डेढ़ लाख रुपये बताई गई है। जब्त शराब यूपी निर्मित पाई गई है। अलावा इसके पुलिस ने आरोपितों के कब्जे से गैरलाइसेंसी पिस्टल, रायफल, दो मैगजीन व 40 कारतूस, तीन मोबाइल एक फर्जी नेम प्लेट भी बरामद की है। बरामद कारतूस में 36 कारतूस 7.65 एमएम तथा 4 कारतूस .32 की शामिल है। पुलिस पकड़े गए आरोपितों से पूछताछ कर उनके पूरे नेटवर्क को खंगालने में जुट गई है।

फेस टाइम एप व वाट्सएप से करते थे डील

एसएसपी डॉ. मानवजीत सिंह ढिल्लो ने बताया कि दीघा थाना प्रभारी राजकुमार पांडेय के नेतृत्व में टीम गठित की गई। टीम ने राजकिशोर राय के मकान पर छापेमारी की। इस दौरान उसके मकान से भारी मात्रा में शराब, पिस्टल, रायफल व 40 कारतूस बरामद हुआ। शराब व हथियार की सप्लाई राजकिशोर और उसका बेटा रामकुमार पटना सहित आसपास के इलाकों में करते थे। शराब की डीलिंग इनके द्वारा फेसटाइम एप व वाट्सएप के जरिए की जाती थी। घर के कई अन्य सदस्य द्वारा शराब की होम डिलिवरी की जाती थी।

चकमा देने के लिए गाड़ी पर लगाते थे फर्जी नेम प्लेट

पुलिस के मुताबिक बाप-बेटा शराब की खेप यूपी से लग्जरी गाड़ी द्वारा लाते थे। पुलिस को चकमा देने के लिए ये गाड़ी पर फर्जी नेम प्लेट लगाते थे। इनके कब्जे से एक राजनैतिक दल के नाम से जो नेम प्लेट जब्त की गई है, वह फर्जी पाई गई है, जबकि इन दोनों अपराधियों का उक्त राजनैतिक दल से न तो कोई संबंध है और न ही दोनों इस पद पर कार्यरत हैं।

तीन हत्या और विस्फोटक मामले में जेल जा चुका है राजकिशोर

पुलिस के मुताबिक पकड़ा गया राजकिशोर राय पेशेवर अपराधी है। हत्या के तीन व विस्फोटक पदार्थ अधिनियम में वह पहले भी जेल चुका है। इनके द्वारा पिछले एक साल से शराब की होम डिलिवरी संगठित तरीके से की जा रही थी। डिमांड पर इनके द्वारा बोदका, ब्लैक डॉग, स्कॉच विस्की, आफिसर्स च्वाइस, रॉयल स्टेग, ब्लेंडर प्राइड जैसे महंगी ब्रांड की शराब सप्लाई की जाती थी।

सप्लायर का मकान होगा सील

पुलिस के मुताबिक आरोपित के मकान के करीब आठ कमरों से शराब की यह खेप पकड़ी गई है। जांच में यह बात सामने आई है कि यह मकान शराब का गोदाम बन गया था। जांच के बाद नियमानुसार आरोपित का मकान सील किया जाएगा।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.