January 28, 2023

EOU का छापाः SDPO रहे संजय कुमार के पटना-बक्सर ठिकानों पर छापेमारी, बालू माफिया से मिलकर काली कमाई का आरोप

पटना

बिहार में भ्रष्ट पदाधिकारियों कार्रवाई की एक बड़ी खबर आ रही है। राज्य में बालू के अवैध खनन मामले में करवाई का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है। इसी के तहत रोहतास के डेहरी के तत्कालीन एसडीपीओ संजय कुमार के ठिकानों पर आर्थिक अपराध इकाई की कार्रवाई चल रही है।,ईओयू के वरीय पदाधिकारियों ने इसकी पुष्टि की है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक एसडीपीओ रहे संजय कुमार के पटना स्थित ठिकाने के साथ-साथ उनके बक्सर स्थित पैतृक आवास पर आर्थिक अपराध इकाई की छापेमारी सुबह से ही चल रही है। पटना में संजय कुमार के आवास पर ईओयू के डीएसपी जाकिर अहमद और रजनीश कुमार के नेतृत्व में छापामारी जारी है वहीं, बक्सर मुरार थाना के बसंतपुर चोगाई गांव में उनके पैतृक आवास पर आर्थिक अपराध के के तीन इंस्पेक्टर करवाई कर रहे हैं। पटना में राजीवनगर थाना के आशियाना नगर स्थित सूर्य विहार कालोनी 1 में संजय कुमार का आवास स्थित है। संजय कुमार को इसी मामले में निलंबित किया जा चुका है।

दोनों ही स्थानों पर सुरक्षा के लिहाज से पर्याप्त बल की तैनाती की गई है। संजय कुमार की काली कमाई का खुलासा करने के लिए आर्थिक अपराध इकाई की टीम लगी है। जानकारी प्राप्त हो रही है कि संजय कुमार पर आय के वैध स्रोतों से प्राप्त आय से 50% की ज्यादा संपत्ति है। इसे लेकर उनके खिलाफ आर्थिक अपराध इकाई में केस दर्ज किया गया है। एडीजी ईओयू नैयर हसनैन खान के निर्देश पर यहकार्रवाई हो रही है।

संजय कुमार के ठिकानों से बरामदगी को लेकर अभी तक कोई सूचना नहीं दी गई है। दोनों ही स्थानों पर छापामारी जारी है। अधिकारियों ने कहा है कि अभी काम चल रहा है। बाद में जानकारी दी जाएगी।

बताते चलें कि बिहार में अवैध बालू खनन का बहुत बड़ा नेक्सस काम कर रहा है जो पीला सोना कहे जाने वाले बालू के अवैध खनन के जरिए बड़ी कमाई कर चुका है। बालू खनन के नेक्सल में बिहार के बड़े-बड़े ऑफिसर संलिप्त हैं। इसमें आईपीएस रैंक के पदाधिकारी राकेश दुबे और सुधीर पोरिका पर भी कार्रवाई हो चुकी है। एसडीएम रैंक के पदाधिकारी भी बालू खनन मामले में अभियुक्त बनाए जा चुके हैं। नए साल के फरवरी महीने में आर्थिक अपराध इकाई लगातार अवैध खनन से जुड़े अधिकारियों के ठिकाने पर छापामारी कर खनन माफिया पर शिकंजा कस रही है।

बालू खनन प्रकरण में अभी तक 41 अफसरों पर गाज गिर चुकी है जिनमें दो एसपी, चार एसडपीओ शामिल हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.