January 28, 2023

बिहार में आठ बाइपास और चार शहरों में बनेगा रिंग रोड, पथ निर्माण मंत्री का ऐलान, एशियन डेवलपमेंट बैंक की मदद से बनेंगी सात सड़कें

पटना

बिहार में आठ बाइपास और चार शहरों में रिंग रोड का निर्माण होगा। इस साल राज्य में कई बड़े पुलों का निर्माण पूरा हो जाएगा। कई स्टेट हाईवे और नेशनल हाईवे का काम पूरा होगा तो कुछ नई सड़क परियोजनाओं पर काम शुरू होगा। गुरुवार को विभाग का बजट पेश करते हुए पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने विधानसभा में यह घोषणा की। मंत्री ने कहा कि सवा लाख करोड़ से अधिक की सड़क योजनाओं पर काम चल रहा है।

सुगम संपर्कता के लिए गया, दरभंगा, भागलपुर व मुजफ्फरपुर में रिंग रोड का निर्माण होगा। जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। जमीन अधिग्रहण में आधी राशि राज्य सरकार खर्च करेगी, जबकि सड़क निर्माण की पूरी लागत केंद्र सरकार वहन करेगी। सुलभ संपर्कता में आवश्यकतानुसार 120 बाईपास का निर्माण होगा। इसकी चौड़ाई न्यूनतम सात मीटर होगी। अभी आठ पर काम शुरू हो गया है।

इसमें पटना में एनएच 30 से विग्रहपुर होते हुए करबिगहिया कृषि फॉर्म होते हुए बाइपास का निर्माण किया जाएगा। अरवल में कुर्था बाईपास, गोपालगंज में कटेया बाईपास, वैशाली में रामाशीष चौक से दिघी बाइपास, गया में शेरघाटी बाजार बाइपास, नालंदा में अरौत से कोरनामा, कटिहार में एनएच 81 से 31 और दरभंगा में जरिसो चौक से बिशुनपुर-बेनीपुर वाया बरमाझा पोखर बाइपास का निर्माण होगा।

एडीबी के सहयोग से सात सड़कें बनेंगी 

मंत्री ने कहा कि एशियन डेवलपमेंट बैंक (एडीबी) की सहायता से 2727 करोड़ से सात राज्य उच्च पथों का उन्नयन होगा। इनमें कटिहार-बलरामपुर, बायसी-बहादुरगंज दिघाल बैंक, अमरपुर बाईपास, मानसी फरगो हॉल्ट-सिमरी बख्तियारपुर, बेतिया-नरकटियागंज, मंझवे-गोविंदपुर और अंबा-देव-मदनपुर सड़क शामिल है। भारतमाला परियोजना एक में आरा-मोहनियां, कन्हौली रामनगर, किशनगंज फ्लाईओवर, गलगलिया-बहादुरगंज-अररिया-फारबिसगंज-जोगबनी का काम जारी है। फेज दो में गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे, वाराणसी-कोलकाता एक्सप्रेस-वे, रक्सौल-पटना-कोलकाता-हल्दिया और पटना-आरा-सासाराम ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे पर काम होगा।

गणपतगंज-परवा पथ का होगा निर्माण

2022-23 में शुरू होने वाली योजनाओं पर मंत्री ने कहा कि सुपौल व अररिया के तहत एसएच 92 गणपतगंज से परवा पथ का निर्माण होगा। मांझी-दरौली गुठनी पथ, ब्रह्मपुर-कुरानसराय-इटाढ़ी-सरंजा जालीपुर, वनगंगा-जेठियन-गहलोर-भिंडस, आरा-एकौना-खैरा सहार और मधुबनी-राजनगर-बाबूबरही-खुटौना पथ का निर्माण होगा। सीतामढ़ी-पुपरी-बेनीपट्टी, धोरैया-इंग्लिश मोड़-असरगंज सड़क और हथौड़ी-आथर-बभनगामा-औराई में बागमती पर पुल बनेगा। पटना के मंदिरी नाला पथ से जेपी गंगा पथ, एनएच 83 पर नथुपुर से एम्स तक नई सड़क व सैदपुर नाला के ऊपर सड़क बनेगी।

ओपीआरएमसी में शिकायत नहीं

मंत्री ने कहा कि सड़कों की मरम्मत ओपीआरएमसी के तहत हो रही है। कोई भले कुछ कहे, लेकिन इसमें शिकायत बहुत कम है। 2019-26 तक 13064 किलोमीटर सड़कों की मरम्मत होगी। इन पथों के बेहतर रखरखाव के लिए कमांड एंड कंट्रोल रूम से जोड़ने की योजना पर काम चल रहा है। एक महीने में यह काम करने लगेगा। इससे यह दिखेगा कि कौन इंजीनियर किस सड़क की कितनी बार निरीक्षण कर रहे हैं और सड़कों की वास्तविक स्थिति क्या है।

पुलों के बेहतर रखरखाव के लिए अनुरक्षण नीति बनेगी। इसमें पुलों का हेल्थ कार्ड बनेगा। हालांकि विपक्षी सदस्य मंत्री का पूरा भाषण पूरा नहीं सुने और वाकआउट कर गए। विपक्ष की अनुपस्थिति में ही विभाग का 58 अरब, 19 करोड़ दो लाख 50 हजार का बजट पारित हो गया। मंत्री के भाषण से पहले राजद के ललित यादव ने कटौती प्रस्ताव रखा जिस पर भूदेव चौधरी, राणा रणधीर, चंद्रशेखर, संजय कुमार तिवारी, लखिंदर पासवान, सतीश कुमार, अजीत कुमार, प्रफुल्ल मांझी, संगीता कुमारी, डॉ सत्येंद्र प्रसाद, सूर्यकांत पासवान आदि ने अपने विचार रखे।

इन परियोजनाओं का काम होगा पूरा

अटल पथ फेज-दो का काम मई 22 में
महात्मा गांधी सेतु जीर्णोद्धार कार्य मई 22 में
बख्तियारपुर-मोकामा चार लेन दिसम्बर 22 में
सुल्तानगंज-अगुआनी घाट पुल दिसम्बर 22 में
इंडो नेपाल बॉर्डर रोड दिसंबर 23 तक
राजेंद्र सेतु के समानांतर पुल अक्टूबर 23 में
कच्ची दरगाह-बिदुपुर पुल दिसंबर 23 में होगा पूरा

बख्तियारपुर-ताजपुर पुल जून 24 में होगा पूरा

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.