September 30, 2022

बेगूसराय में खुला डेलाइट एजुकेशनल एंड चेरिटेबल ट्रस्ट का ऑफिस, बेगूसराय के 500 छात्रों को गोद लेकर उच्च शिक्षा दिलाएगा ट्रस्ट

बेगूसराय

बेगूसराय जिले के बच्चों को अब ट्रस्ट का फॉर्म भरने के लिए पटना नहीं आना पड़ेगा। वे बेगूसराय में ही डेलाइट एजुकेशनल एंड चेरिटेबल ट्रस्ट का फॉर्म भर सकते हैं। जी हां, बेगूसराय के रतनपुर हनुमान मंदिर के पास डुमरी रोड में डेलाइट एजुकेशनल एंड चेरिटेबल ट्रस्ट के ऑफिस का रविवार को उद्घाटन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन चीफ गेस्ट कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अनुपम कुमार अन्नु डेलाइट ट्रस्ट के चेयरमैन शैलेंद्र कुमार व ट्रस्ट के ट्रस्टी सह बोर्ड ऑफ डायरेक्टर नवाज शरीफ ने संयुक्त रूप से किया। इस दौरान मुख्य अतिथि अनुपम कुमार अन्नु ने कहा कि ट्रस्ट के द्वारा बेगूसराय के बच्चों के लिए जो पहल की जा रही है वो सराहनीय है। डेलाइट एजुकेशनल एंड चेरिटेबल ट्रस्ट बेगूसराय के आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों को गोद लेकर पढ़ाने का जो संकल्प लिया है वो बेगूसराय के भविष्य को बना देगा। ट्रस्ट का मिशन पढ़ेगा इंडिया-बढ़ेगा इंडिया के तहत इंटर पास छात्र व छात्रा सिर्फ अपने रहने-खाने और परीक्षा शुल्क के खर्च पर अपने सपनों को पंख दे सकते हैं। कॉलेज फीस की पूरी जिम्मेदारी ट्रस्ट की होगी। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट बच्चों के कॉलेज फीस की जिम्मेदारी लेकर उनके सपनों को साकार कर रहा है। वहीं डेलाइट एजुकेशनल एंड चेरिटेबल ट्रस्ट का ऑफिस बेगूसराय जिले में लेने का गौरव शिक्षिका रोणु कुमारी ने लिया है। इस अवसर रेणु कुमारी ने कहा कि बेगूसराय के लिए ये गौरव की बात है कि यहां के बच्चों को भी ट्रस्ट के माध्यम से पढ़ने का लाभ मिलेगा। वहीं इनके पुत्र अंकित कुमार ने कहा कि ट्रस्ट ने हम लोगों को एक अवसर प्रदान किया है कि हम इसके माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों की मदद कर सकें।

जरूरत पड़ने पर हम बेगूसराय के लिए सीट बढ़ा देंगे : शैलेंद्र कुमार

डेलाइट एजुकेशनल एंड चेरिटेबल ट्रस्ट के चेयरमैन शैलेंद्र कुमार ने कहा कि फिलहाल बेगूसराय के लिए 500 सीट आवंटित किया गया है। यहां के 500 छात्रों को ट्रस्ट गोद लेकर फ्री में पढ़ाएगा। छात्रों को पढ़ाई के लिए कोई पैसा नहीं लगेगा। सिर्फ रहना-खाना और परीक्षा शुल्क देना है। वहीं चेयरमैन ने कहा कि ट्रस्ट के पास पूरे देश के बच्चे फॉर्म भरकर हायर एजुकेशन लेने के लिए आ रहे हैं। देश ही नहीं बल्कि पड़ोसी देश नेपाल के छात्रों को भी ट्र्स्ट गोद लेकर पढ़ा रहा है।

पढ़ने के लिए पैसे की नहीं, हौसले की जरूरत है : नवाज शरीफ

डेलाइट एजुकेशनल एंड चेरिटेबल ट्रस्ट के ट्रस्टी सह बोर्ड ऑफ डायरेक्टर नवाज शरीफ ने अद्घाटन  समारोह में कहा कि पढ़ाई के लिए पैसे की नहीं हौसले की जरूरत है। जो छात्र कॉलेज की मोटी फीस नहीं दे पाते और अपनी पढ़ाई छोड़ने का फैसला कर लेते हैं, उनसे अपील है कि एक बार जरूर डेलाइट एजुकेशनल एंड चेरिटेबल ट्रस्ट के ऑफिस आएं। हम वादा करते हैं कि हम आपकी पढ़ाई के खर्च की जिम्मेदारी लेंगे। आपको सिर्फ अपने रहने खाने और परीक्षा का खर्च उठाना है। पढ़ाई में आपका पैसा नहीं लगेगा।

कार्यक्रम में छात्रों व अभिभावकों ने पूछे कई सवाल

उद्घाटन समारोह के मौके पर पढ़ाई को लेकर छात्रों और अभिभावकों ने कई तरह के सवाल पूछे। ट्रस्ट के चेयरमैन और बोर्ड ऑफ डायरेक्टर ने सभी सवालों का जवाब दिया। इस मौके पर अंग्रेजी के शिक्षक एसके खान,  फिजिक्स और मैथ के शिक्षक राकेश सर, बाइलॉजी और इतिहास के शिक्षक मनीष सर, मैथ के शिक्षक अभिषेक सर, मैथ के शिक्षक इंदुभूषण, अंग्रेजी के शिक्षक ज्वेती रंजन समेत सैकड़ों की संख्या में शिक्षक, अभिभावक और छात्र मौजूद रहे।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.