January 28, 2023

बिहारः लखीसराय में अंधाधुंध फायरिंग, पुलिस पर हमला, दारोगा घायल, जानिए- क्या है वजह

लखीसराय

लखीसराय का गिद्धा गांव उस समय गोलियों की तरतराहट से थर्रा उठा जब मछली मारने के विवाद में दो पक्षों के बीच खूनी झड़प हो गयी। वर्चस्व की लड़ाई में दोनो पक्षों ने जमकर फायरिंग की। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस पहुंच गई तो पुलिस पर हमला कर दिया गया। हमले में एक एसआई घायल हो गया। घटना हलसी थाना इलाके की है।

जिले के हलसी थाना क्षेत्र के गिद्धा गांव में बुधवार की सुबह मछली मारने के विवाद में दो पक्षों में तनातनी हो गई। मामले ने इतना तुल पकड़ा कि दोनों पक्षों की ओर से बंदूक निकल गयी। दोनों ओर से कई राउंड फायरिंग और बाद में कार्रवाई को पहुंची पुलिस पर ही हमला कर दिया। इस हमले में हलसी थाना के एक एसआई घायल हो गए हैं।

जानकारी के मुताबिक गिद्धा गांव में बुधवार की सुबह सड़क किनारे पैन में पूर्वी व पश्चिमी गिद्धा के लोग मछली मार रहे थे। इसी बीच दोनों गांव के लोगों में मछली मारने को लेकर ही पहले तो कहासुनी हुई और फिर दोनों पक्ष आमने-सामने हो गए। दहशत फैलाने के उद्देश्य से दोनों पक्षों की ओर से करीब दो दर्जन राउंड हवाई फायरिंग हुई। दोनों पक्षों का कहना था कि वह उसका इलाका है और वे ही मछली मारेंगे।

इस बीच किसी ग्रामीण ने पुलिस को सूचना दी कि गांव में गोलीबारी हो रही है। मौके पर हलसी थाना की पुलिस एसआई फसी अहमद के नेतृत्व में पहुंची और गोलीबारी कर रहे लोगों को खदेड़ना शुरू कर दिया। बताया जा रहा है कि पश्चिमी गिद्धा के ही किसी ग्रामीण ने एसआई के सर पर रॉड से हमला कर दिया। हमले में एसआई का सर फट गया है। उन्हें इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इधर पुलिस वैरंग वापस थाना लौट गई। इस घटना के बाद बड़ी कार्रवाई के लिए जिला बल के साथ ही वरीय पुलिस पदाधिकारी के जिला से आने की खबर है। हालांकि अभी इस मामले में पुलिसिया स्तर पर बयान नहीं मिला है। फिलहाल कार्रवाई की बात कही जा रही है। इधर घटना में पूर्वी गिद्धा के एक ग्रामीण  विशेश्वर राम भी घायल हो गए हैं। उन्हें भी लाठी-डंडे से पीटा गया है।

हालांकि एक पक्ष का कहना है कि मामला पंचायत चुनाव से जुड़ा है। मछली का बहाना बनाया गया है। एक उम्मीदवार को वोट नहीं देने के कारण इस वारदात को अंजाम दिया गया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.