January 28, 2023

बिहार: केंद्र से अबतक नहीं मिला डेढ़ करोड़ लाभुकों के लिए अनाज, सरकार ने पॉश मशीन से हटाया डेढ़ लाख का नाम

पटना

केंद्र सरकार के आश्वासन के बाद भी राज्य के डेढ़ करोड लाभुकों के लिए अबतक अनाज नहीं मिला। जनसंख्या बढ़ने के कारण राज्य सरकार ने इसका दावा किया था। लेकिन अब तक राज्य को पुरानी जनगणना के अनुसार 8.71 लाख लाभुकों के लिए अनाज मिल रहा है। इस बीच राज्य के डेढ़ लाख लाभुकों का नाम फिर पॉश मशीन से हटा दिया गया। इन लाभुकों का आधार कार्ड गलत था। केंद्र सरकार ने आधार सीडिंग का समय एक बार फिर बढ़ाते हुए 31 मार्च कर दिया है।

राज्य में जन वितरण व्यवस्था के तहत लाभुकों की संख्या वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार ही तय है। लेकिन, बीच के इन दस वर्षों में लाभुक परिवारों की संख्या में लगभग 30 लाख की वृद्धि हुई है। प्रति परिवार पांच लाभुक की संख्या के हिसाब से डेढ़ करोड़ लोगों को अनाज देने का दावा बनता है। जनसंख्या निदेशालय भी राज्य सरकार के इस तर्क से सहमत है।

निदेशालाय के अनुसार राज्य की जनसंख्या 10.38 करोड़ से बढ़कर 12.30 करोड़ होने का अनुमान है। इस हिसाब से 10.31 करोड़ लाभुकों को अनाज देने की व्यवस्था की जानी चाहिए। लेकिन, केंद्र नियमों का हवाला देकर इस मांग पर ध्यान नहीं दे रहा है। नियम के अनुसार नई जनगणना के बाद ही लाभुकों की संख्या बढ़ाई जा सकती है। लेकिन तत्कालीन केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने भी राज्य सरकार की इस मांग को वाजिब बताते हुए इसकी व्यवस्था करने का आश्वासन दिया था।

डेढ़ लाख लाभुकों का नाम पॉश मशीन से हटाया

उधर राज्य के लगभग डेढ़ लाख लाभुकों का नाम पॉश मशीन से हटा दिया गया है। इन लाभुकों का आधार सत्यापन में गलत निकला। इसमें पटना सहित सभी जिले के लाभुक हैं। केंद्र सरकार ने आधार सीडिंग के लिए समय 31 मार्च तक बढ़ा दिया है। इस समय तक जिनका आधार पॉश मशीन से नहीं जुड़ा, उन्हें अनाज नहीं मिलेगा।

इसके पहले कोराना काल में मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने ऐसे लाभुकों को अनाज नहीं देने की व्यवस्था पर रोक लगा रखी थी। उन्होंने कहा था कि संकट की घड़ी में सभी लाभुकों को अनाज मिलना चाहिए। लेकिन अब हर हाल में सबको 31 मार्च के पहले आधार सीडिंग कराना होगा।

पीडीएस व्यवस्था एक नजर में 

8.71 करोड़ लाभुक हैं वर्तमान में
1.5 करोड़ लाभुक बढ़ेंगे सर्वे के अनुसार
75 हजार टन और अनाज की होगी जरूरत
31 मार्च तक कराना होगा आधार सीडिंग

आंदोलन करेगा कार्डधारी संघ 

जनकल्याण राशन कार्डधारी संघ के संरक्षक दशरथ पासवान, प्रदेश अध्यक्ष राजेश पासवान और महामंत्री दौलत राही व सरदार रणजीत सिंह ने लाभुकों का राशन कार्ड रद्द करने को सरकार का तुगलकी फरमान बताया है। साथ ही कहा है कि 27 जनवरी से इसके खिलाफ उनका संगठन ताली पीटो प्रदर्शन करेगा। आरोप लगाया कि सरकार ने बड़ी संख्या में राशन कार्ड रद्द कर दिया है। ये लोग राशन के बिना भूखे मरने पर लाचार हैं। नेताओं ने राज्य सरकार के खाद आपूर्ति विभाग को चेतावनी दी है कि अगर 27 जनवरी तक आदेश वापस नहीं हुआ तो आंदोलन करेंगे।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.