October 4, 2022

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच पटना में साइकिल का क्रेज, 15 से 25 तक बढ़ी बिक्री

पटना

पेट्रोल की कीमत 115 रुपये के पार चली गई है। बढ़ते पेट्रोल और डीजल की कीमतों के कारण लोगों के बीच साइकिल और ई-साइकिल की मांग में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। पटना में हर महीने लगभग पांच हजार से ज्यादा साइकिल बिक रही है।

पहले साइकिल की बिक्री हर महीने औसतन चार हजार के आसपास रहती थी। साइकिल कारोबारियों की माने तो बीते दो महीने में साइकिल की मांग में 15 से 25 प्रतिशत के बीच वृद्धि हुई है। बड़ी संख्या में लोग साइकिल दुकानों पर पहुंच रहे हैं और अपने बजट के अनुरूप साइकिल ढूंढ़ रहे हैं।

साइकिल कारोबारी कुलवीर सिंह कहते हैं कि लोगों में साइकिल और ई-साइकिल खरीदने का रूझान देखा जा रहा है। साइकिल दुकानों पर पहुंचने वाले ज्यादातर लोग अपने स्कूल और कॉलेज जाने वाले बच्चों के लिए साइकिल खरीदने के इच्छुक हैं।

स्टेशन रोड पर साइकिल खरीदने पहुंचे कंकड़बाग के सुमन कुमार कहते हैं कि उन्होंने बेटे को स्कूटी दी थी पर पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के कारण साइकिल खरीद रहे हैं। अब उनका बच्चा ट्यूशन पढ़ने के लिए मोटरसाइकिल की जगह साइकिल से जाएगा।

ई-साइकिल की 20 प्रतिशत बढ़ी मांग
बढ़ते पेट्रोल व डीजल की कीमतों के कारण साइकिल के साथ-साथ ई-साइकिल की भी मांग पटना में बढ़ी है। अमन ट्रेडिंग कंपनी व राजधानी साइकिल स्टोर के संचालकों की माने तो वैसे लोग भी पहुंच रहे हैं जो मोटरसाइकिल का विकल्प बैटरी वाले साइकिल में ढूंढ़ रहे हैं। ई-साइकिल की मांग राजधानी में बीस से तीस प्रतिशत तक बढ़ गया है। कई लोग इसलिए भी ई-साइकिल खरीद रहे हैं कि जब साइकिल चलाकर थक जाए तो बैटरी की सहायता से अपने गंतव्य स्थान तक बिना परिश्रम पहुंच सके।

500 से हजार रुपये तक का इजाफा
बढ़ते स्टील के दाम साइकिल बिक्री को रोक रहे हैं। कदमकुआं के साइकिल कारोबारी अमन अग्रवाल कहते हैं कि रूस और यूक्रेन युद्ध के बाद स्टील के दाम में बेतहाशा बढ़ोतरी का असर साइकिल कारोबार पर भी पड़ा है। अब तक साइकिल की कीमतों में लगभग 25 प्रतिशत का इजाफा हो गया है। चार हजार रुपये में बिकने वाली साइकिल अभी पांच हजार रुपये में बिक रही है।

अनुदान की मांग
साइकिल खरीदार व विक्रेता साइकिल पर अब अनुदान की मांग कर रहे हैं। महात्मा गांधी नगर के भारती कुमार कहते हैं कि जब पर्यावरण संरक्षण के लिए सरकार ई-बाइक पर अनुदान दे सकती है तो उसे साइकिल पर भी अनुदान देकर इसकी बढ़ती कीमतों से उपभोक्ताओं को सरंक्षण देना चाहिए।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.