October 4, 2022

ऐसे ठगों से रहें सावधान! हरियाणा में 15 करोड़ की धोखधड़ी करने वाला पटना से गिरफ्तार, प्लेन से हरियाणा ले गई पुलिस

पटना

टाउनशिप बनाने के नाम पर हरियाणा के करनाल में सीसी टैंक टाउनशिप प्राइवेट लिमिटेड के मालिक संजीव कुमार से 15 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने के आरोपित सलिल नारायण को हरियाणा से आई पुलिस ने गांधी मैदान थाने की पुलिस से सहयोग से गिरफ्तार कर लिया। उसकी गिरफ्तारी गांधी मैदान के गोलघर इलाके से रविवार की दोपहर में की गई। गिरफ्तारी के बाद हरियाणा पुलिस आरोपित को अपने साथ लेकर प्लेन से हरियाणा के लिए रवाना हो गई।

आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए दो सब इंस्पेक्टर की एक टीम हरियाणा से पटना आई थी। टीम का नेतृत्व सब इंस्पेक्टर बहादुर कुमार कर रहे थे। 15 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के इस मामले में सलिल नारायण समेत कुल 6 नामजद आरोपित शामिल बताए गए हैं। आरोपित के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी था। आरोपित की गिरफ्तारी की पुष्टि हरियाणा से आए सब इंस्पेक्टर बहादुर कुमार व गांधी मैदान थाना प्रभारी सुनील कुमार सिंह ने की है।

क्या है पूरा मामला

हरियाणा से आए सब इंस्पेक्टर बहादुर कुमार ने बताया कि धोखाधड़ी का यह मामला वर्ष 2008 का है। हरियाणा के करनाल जिले में फुसगढ़ व इंद्री में टाउनशिप बनाने के नाम पर 31 लाख रुपए प्रति कट्‌ठा के हिसाब से कुल 26.075 एकड़ जमीन की डील हुई थी। यह जमीन वहां के रहने वाले धर्मपाल और इनकी पत्नी अनुप्रिया के नाम पर थी।

करनाल में सीसी टैंक टाउनशिप प्राइवेट लिमिटेड के मालिक संजीव कुमार धोखाधड़ी के इस मामले में धर्मपाल, उनकी पत्नी अनुप्रिया, इनके बेटे अमित अरोड़ा, शिवम अरोड़ा, पटना के रहने वाले सलिल नारायण और शिक्षा नारायण के खिलाफ इंद्री थाने में  केस दर्ज कराया था। दर्ज केस संख्या 715/21 में संजीव कुमार ने आरोप लगाया है कि इन लोगों ने मिलकर जमीन के नाम पर उनसे धोखाधड़ी की। प्रोजेक्ट को लेकर वे 10 करोड़ रुपए खर्च कर चुके हैं।

चार तरह की डीड बनवाने का भी आरोप

केस दर्ज कराने वाले संजीव कुमार का यह भी आरोप है कि जमीन की डील को लेकर 4 तरह का डीड बनाया गया था। धर्मपाल और अनुप्रिया ने मिलकर एडवांस में 2.25 करोड़ रुपये लिया था। पुलिस के अनुसार एग्रीमेंट होने के बाद आरोपितों ने  फर्जी तरीके से जमीन अपने नाम करवा ली। फिर फर्जी कंपनी बनाई और फर्जी लेटर हेड बनवाए। करोड़ों रुपए का सामान भी चोरी कर लिया।

धोखे से 15 करोड़ रुपए के फर्जी कागज तैयार कर जमीन हड़पने की कोशिश की और एडवांस में दिए गए 2.25 करोड़ भी रख लिये। इन आरोपों के आधार पर ही संजीव ने वहां केस दर्ज कराया था। इसमें जांच करने के बाद हरियाणा के करनाल से पुलिस की टीम रविवार को पटना आई थी और नामजद आरोपित सलिल नारायण को गोलघर से गिरफ्तार कर ले गई।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.