February 8, 2023

बेगूसरायः गोलियों की बौछार से दहला वृंदावन -नावकोठी, दो की हत्या

बेगूसराय

बिहार के बेगूसराय का वृन्दावन  दो दिनों में दोहरे हत्याकांड से दहल उठा। गोलियों से पूरा वृन्दावन थर्रा उठा। लोग भयाक्रांत हो घर में घुस गये। इलाके में दहशत कायम है। पुलिस वृन्दावन में कैंप कर रही है।

सोमवार को  बेगूसराय के वृन्दावन के मनोज सिंह के पुत्र परीक्षित की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। उसके शव का पोस्टमार्टम नावकोठी पुलिस ने करवाया। रात में ही शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। यह मामला थमा भी नहीं था कि  बदमाशों ने वृन्दावन निवासी शिव कुमार सिंह के मंझले पुत्र 46 वर्षीय पुत्र रंजीत सिंह उर्फ हीरा सिंह को मंगलवार की सुबह गोलियां से भून डाला। हत्यारों ने पूरे परिवार पर हमला किया जिसमें उनके पुत्र आनंद एवं पुत्री अंजलि को भी गोली लग गई। गोली लगने से हीरा की मौत घटना स्थल पर ही हो गयी।

घटना के संबंध में परिजनों ने बताया कि हीरा सिंह घर के बगल में स्थित आंगनबाड़ी केन्द्र में अपने पुत्र व पुत्री के साथ बैठे थे। एक दर्जन से अधिक बदमाश हथियार से लैस होकर पहले दरवाजे पर आये। वहां कुर्सियां तोड़ी फिर आगे बढ़ते और आंगनबाड़ी केन्द्र का दरवाजा तोड़ भीतर घुसकर गोलियां चलानी शुरू कर दी। हीरा शौचालय में घुसे। वहां जाकर उस पर गोलियां चलाईं तथा लोहे के रोड से उसके सिर पर वार कर सिर को पूरी तरह चूर दिया। जख्म की वजह से उसकी पहचान भी नहीं हो पा रही थी। फायरिंग के दौरान बच्चों को भी गोली लग गयी। घटना की सूचना पाकर एसडीपीओ बखरी चन्दन कुमार, पुलिस निरीक्षक बखरी संजय कुमार सिंह, थानाध्यक्ष राजीव रंजन कुमार,एस आई खामश चौधरी, एएसआई अनिल कुमार मिश्रा सहित बदल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल बेगूसराय भेज दिया।

त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस ने मनोज सिंह को खदेड़कर  गिरफ्तार कर लिया। घटना से वृन्दावन में दहशत व्याप्त है। इस घटना को  विभूतिपुर में एक दिन पूर्व हुई वृन्दावन के मनोज सिंह के पुत्र परीक्षित की  हत्या से भी जोड़ कर देखा जा रहा है। पुलिस के अनुसार विभूतिपुर में हुई वृन्दावन के युवक परीक्षित की हत्या में संजय सिंह के पुत्र भोला आरोपित है। भोला हीरा का भतीजा  । इधर, हीरा की हत्या से वृन्दावन में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। ढांढस बंधाने वाले भी अपने को संभाल नहीं पा रहे थे। हीरा की मां रुप सागर देवी दहाड़ मार कर रो रही थी। पत्नी आभा देवी का और भी बुरा हाल है। वह शव से लिपट कर रोने लगी तो सबकी आंखें नम हो गयीं।  हीरा के पिता शिव कुमार सिंह विक्षिप्त हैं। हीरा सिंह के दो पुत्र आनंद और अनुभव तथा पुत्री अंजलि है।आनंद और अंजलि भी गोली से जख्मी हैं। इनका इलाज निजी क्लीनिक में चल रहा है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.