बिहार में 20 साल बाद 55 नए ड्रग इंस्पेक्टर की होगी नियुक्ति, स्वास्थ्य विभाग ने बीपीएससी को भेजा प्रस्ताव; इन्हें मिलेगी प्राथमिकता

पटना

बिहार में 20 साल बाद 55 नए ड्रग इंस्पेक्टर की स्थायी नियुक्ति होगी। स्वास्थ्य विभाग ने ड्रग इंस्पेक्टरों के रिक्त पदों पर नियुक्ति का प्रस्ताव बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) को भेज दिया है। लंबे अंतराल के बाद स्वास्थ्य विभाग में पुन: ड्रग इंस्पेक्टरों की नियुक्ति होगी। बिहार में इसके पूर्व वर्ष 2008 में ड्रग इंस्पेक्टरों की नियुक्ति के लिए बीपीएससी से विज्ञापन प्रकाशित किया गया था। इसके लिए नियुक्ति प्रक्रिया वर्ष 2009 में पूरी हुई थी। 2011 में ड्रग इंस्पेकटरों ने स्वास्थ्य विभाग में योगदान दिया था।

फार्मेसी में डिग्री प्राप्त करने वाले आवेदन कर सकेंगे 

जानकारी के अनुसार, ड्रग इंस्पेक्टर के पद पर चयनित होने के लिए आवेदक के पास फार्मेसी में डिग्री प्राप्त होना चाहिए। इसके साथ ही दवा विनिर्माण एवं शोध में न्यूनतम 1.5 वर्ष के कार्य अनुभव वाले आवेदकों को प्राथमिकता दी जाएगी। चयनित किए जाने वाले अभ्यर्थियों को राज्य सरकार द्वारा देय 5400 ग्रेड-पे के तहत वेतन का भुगतान किया जाएगा। यह पद राजपत्रित पदों में शामिल है।

106 ड्रग इंस्पेक्टर वर्तमान में कार्यरत हैं

सूत्रों के अनुसार, राज्य में ड्रग इंस्पेक्टर के कुल 163 स्वीकृत पद स्वीकृत हैं और इनमें 106 ड्रग इंस्पेक्टर कार्यरत हैं। जबकि राज्य में पिछले 20 वर्षो में दवाओं के कारोबार में काफी बढ़ोतरी हुई है। राज्य में वर्तमान में दवा दुकानों की संख्या करीब 40 हजार है। दवा दुकानों की संख्या, दवाओं के उत्पादन, विक्रय एवं कारोबार की संयुक्त रूप से निगरानी के लिए तकनीकी क्षमता में बढोतरी के साथ ही करीब 500 ड्रग इंस्पेक्टरों की जरूरत है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.